बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर CM नीतीश कुमार सख्त, पुलिस विभाग में निकाली जाएगी वैकेंसी

बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब सख्त दिख रहे हैं. अपराधियों पर नकेल कसने के लिए नीतीश कुमार अब बड़े पैमाने पर पुलिस में भर्तियां करने वाले हैं. नीतीश कुमार ने शनिवार को 1 अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में पुलिस आधुनिकीकरण से संबंधित उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक पुलिस विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ की. इस दौरान सीएम नीतीश ने अधिकारियों को कई निर्देश दिए.

बिहार में कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बिहार के सीमित क्षेत्रफल और आबादी को ध्यान में रखते हुए प्रति एक लाख की जनसंख्या पर 150 से 160 की संख्या में पुलिस बल की तैनाती की दिशा में तेजी से काम करें. इसके लिए सेवानिवृत हो रहे पुलिसकर्मियों के खाली पदों को भरने के अलावा पुलिस बल में जरूरत के मुताबिक नये पदों को भी सृजित करें.

IMG 20210828 WA0063

नीतीश कुमार ने कहा कि अनुसंधान का काम 60 दिनों के अंदर सुनिश्चित हो ताकि ट्रायल चलाकर अपराधियों को त्वरित सजा दिलायी जा सके. सभी थानों को यथाशीघ्र अपना भवन उपलब्ध हो और उसमें महिला शौचालय एवं स्नानागार की सुविधा सुनिश्चित हो. इसके अलावा राष्ट्रीय कानून के तहत बिहार में कानून का राज कायम रखने के लिए पुलिस की कार्य संस्कृति को दो हिस्सों (अनुसंधान एवं कानून व्यवस्था) में बांटा गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि खपरैल छतों वाले थाना भवनों की जगह अच्छे भवन बनवाएं.

IMG 20220211 221512 618IMG 20220215 WA0068

बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, अपर मुख्य सचिव गृह चैतन्य प्रसाद, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ एस सिद्धार्थ, बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक विनय कुमार, सचिव गृह जितेन्द्र श्रीवास्तव, अपर पुलिस महानिदेशक शोभा अहोतकर सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे.

IMG 20210821 WA0008IMG 20220331 WA0074IMG 20211031 WA0072 01IMG 20211024 WA0080IMG 20211012 WA0017