स्कूल टाइम में जाति आधारित गणना नहीं करेंगे शिक्षक, केके पाठक का नया फरमान

बिहार में जारी जातिगत गणना के काम में शिक्षकों की स्कूल टाइम में अब ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने नया आदेश जारी किया है। उन्होंने कहा कि स्कूल अवधि के बाद ही शिक्षकों से गणना कार्य कराया जाए। इससे पहले एसीएस केके पाठक ने आदेश जारी कर राज्यभर के शिक्षकों की गैर शैक्षणिक कार्यों में प्रतिनियुक्ति पर रोक लगा दी थी। हालांकि, जातिगत गणना में उनकी ड्यूटी लगाने में छूट दी गई थी, मगर अब उन्होंने इसमें भी शर्त रख दी है।

शिक्षा विभाग के एसीएस केके पाठक की ओर से मंगलवार को सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा कि बिहार में जाति आधारित गणना का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। सिर्फ डाटा एंट्री का काम बचा हुआ है। ऐसे में स्कूल अवधि के बाद ही शिक्षकों की जातिगत गणना में ड्यूटी लगाई जाए। ताकि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो।

IMG 20220723 WA0098

बता दें कि बिहार में जाति आधारित गणना का काम अंतिम चरण में है। सर्वे का कार्य पूरा हो चुका है, अभी डाटा एंट्री का काम चल रहा है। डाटा एंट्री 50 फीसदी बाकी है। जातिगत गणना में लगे कर्मी पोर्टल पर डाटा चढ़ा रहे हैं।

IMG 20230522 WA0020IMG 20230604 105636 460

पूर्व में केके पाठक ने आदेश जारी कर कहा था कि शिक्षकों की जातीय गणना के अलावा अन्य किसी गैर शैक्षणिक कार्य में ड्यूटी न लगाई जाए। शिक्षकों की गैर शैक्षणिक कार्यों में प्रतिनियुक्ति से स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई पर असर पड़ रहा है। उन्होंने शिक्षकों के ट्रेनर बनाने पर भी रोक लगा दी थी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव बनने के बाद से केके पाठक ने शिक्षण के क्षेत्र में कई नए बदलाव किए हैं। अक्सर वे अपने फरमानों को लेकर चर्चा में रहते हैं।

Sanjivani Hospital New Flex 2023 Bittu GIMG 20230701 WA0080IMG 20230324 WA0187 01IMG 20230620 WA0060IMG 20230416 WA0006 01