रिटायर्ड IPS का B.Tech डिग्रीधारी बेटा पटना में अपराधियों को बेचता था हथियार, नौकरी नहीं मिली तो बना हथियार सप्लायर

पटना में अपराधियों को हथियार सप्लाइ करने वाले एक बड़े गिरोह का पटना पुलिस ने खुलासा किया है. इस मामले में पुलिस ने तीन हथियार सप्लायर और लूटपाट करने वाले अपराधियों समेत छह को गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार हथियार सप्लायर गिरोह का सरगना एक रिटायर्ड आइपीएस अधिकारी का बीटेक डिग्रीधारी बेटा आशीष रंजन है. वह मुंगेर से हथियार मंगवा कर पटना के अपराधियों को बेचता था.

इस संबंध में शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि एसएसपी ने बताया कि इस गिरोह में शामिल अपराधी जमीन कब्जा कराने, रंगदारी, धमकी समेत अन्य कांडों को अंजाम कर अपना नाम बना रहे थे. गिरफ्तार अपराधियों का कोई भी आपराधिक इतिहास नहीं है.

IMG 20220723 WA0098

40 हजार में पिस्टल और दो सौ में गोली

मिली जानकारी के अनुसार आशीष जिस शख्स से मुंगेर से पिस्टल व कारतूस मंगवाता था, उसका मुंगेर में काफी पैठ है. वह कम दाम में अवैध हथियार आशीष को उपलब्ध करवाता, जिसे वह पटना के अपराधियों को सप्लाइ करता था. पुलिस के अनुसार आशीष 40 हजार रुपये में पिस्टल और दो सौ रुपये में 7.65 एमएम की गोली बेचता था.

IMG 20220728 WA0089

नहीं मिली नौकरी, तो करने लगा हथियार सप्लाइ

मिली जानकारी के अनुसार बीटेक डिग्रीधारी आशीष रंजन और राकेश कुमार को जब नौकरी नहीं मिली, तो दोनों ने मिल कर हथियार सप्लाइ का धंधा शुरू कर दिया था. पूछताछ में पुलिस ने मुंगेर से हथियार सप्लाइ करने वाले के बारे में भी पता कर लिया है और जल्द ही वहां के पुलिस से संपर्क छापेमारी करेगी. एसएसपी ने बताया कि सभी को रिमांड पर लेकर पूछताछ किया जायेगा.

IMG 20221203 WA0079 01

महिला से छिनतई के प्रयास में पकड़ा गया

गुरुवार को मलाही पकड़ी के पास एक महिला से बाइक सवार तीन शातिरों ने चेन स्नैचिंग का प्रयास किया था. इस दौरान बाइक सवार अंकुश को लोगों ने पकड़ लिया और दो फरार हो गये. पूछताछ में उसने दो साथियों के नाम को बताया. जब मोबाइल की छानबीन की गयी, तो उसमें कई सारे हथियारों की तस्वीर और वीडियो मिला. तलाशी में अंकुश के पास से हथियार और कारतूस भी बरामद हुए. इसी की निशानदेही पर अन्य पांच शातिरों को पुलिस ने पकड़ा है.

JPCS3 01

ऑटो पर राहगीरों को बैठा करता था लूटपाट

अंकुश की निशानदेही पर महिला से चेन स्नैचिंग के प्रयास के बाद फरार बिट्टू और सुजीत को पकड़ा गया, जिसके पास से भी हथियार और कारतूस बरामद हुए. सुजीत मुख्य रूप से ऑटो चलाता है और बैरिया, रेलवे स्टेशन से राहगीरों बैठा कर अपने साथी बिट्टू व अंकुश के साथ हथियार के बल पर लूटपाट करता था. तीनों ने कई लूटपाट व छिनतई की घटना को अंजाम देने की बात स्वीकारा है.

1 840x760 1IMG 20211012 WA0017IMG 20221203 WA0074 01IMG 20221130 WA0095IMG 20221117 WA0072Post 183

Leave a Reply

Your email address will not be published.