पटना में BTET अभ्यर्थियों का प्रदर्शन, पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश, जानें क्या है पूरा मामला

बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा की मांग को लेकर शुक्रवार को बीटीईटी (BTET)अभ्यर्थियों की ओर से गांधी मैदान से डाकबंगला चौराहा तक मार्च निकाला गया. हालांकि पटना पुलिस ने कुछ बीटीईटी (BTET)अभ्यर्थियों को गांधी मैदान के पास स्थिति जेपी गोलंबर पर ही रोक दिया था. लेकिन, कुछ बीटीईटी (BTET)अभ्यर्थी पुलिस को चकमा देकर पटना के डाकबंगला के पास पहुंच गए थे.

बीटीईटी (BTET)अभ्यर्थियों ने यहां अपने शरीर में पेट्रोल डालकर आत्म हत्या का भी प्रयास किया. पुलिस ने उसे अपनी हिरासत में ले लिया. एक अभ्यर्थी सड़क पर गिर गई जिसे महिला पुलिस द्वारा उठाकर ले गई. प्रदर्शन कर रहे छात्रों के हंगामा करने के कारण पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया. जिससे वहां पर अफरा तफरी मच गई.

IMG 20220723 WA0098

शुक्रवार को हंगामा कर रहे बीटीईटी (BTET)अभ्यर्थियों के निशाने पर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav)रहे. उनका कहना था कि जब वे नेता प्रतिपक्ष थे तो उन्होंने वादा किया था कि उनकी सरकार बनती है तो हम इस मामले का हल निकाल देंगे. लेकिन, सरकार बनते ही वे अपना वादा भूल गए.

IMG 20220728 WA0089

प्रदर्शन करने वाले अभ्यर्थियों का कहना है कि सातवें चरण शिक्षक नियोजन से पहले बीटीईटी का आयोजन हो. पिछले पांच सालों से बिहार में बीटीईटी का आयोजन नहीं हुआ है. हर साल बीएड, डीएलएड कर लाखों अभ्यर्थी प्रशिक्षित होते हैं लेकिन फिर भी बिहार में प्रति वर्ष बीटीईटी का आयोजन क्यों नहीं हो रहा है. बताते चलें कि कुछ दिन पहले सीटीईटी के अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन किया था.

IMG 20220828 WA0028

IMG 20220829 WA0006Picsart 22 07 13 18 14 31 8081IMG 20220810 WA0048JPCS3 01IMG 20211012 WA0017IMG 20220331 WA0074