बिहार में कई जगहों पर NIA की रेड, पटना, औरंगाबाद, गया, रोहतास में छापेमारी

माओवादी गतिविधियों को लेकर माओवादी सेंट्रल कमेटी के सदस्‍य विजय आर्य के पटना समेत तीन ठिकानों पर एनआइए की छापेमारी चल रही है। माओवादी के सेंट्रल कमिटी के मेंबर विजय आर्य के पटना के शास्त्रीनगर स्थित एजी कालोनी में बेटा औरंगाबाद जिले के गोह के महेश परासी स्थित बेटी जिला पार्षद शोभा कुमारी, गया जिले के कोच थाना अंतर्गत करवा गांव स्थित पैतृक आवास पर सुबह से ही एनआइए छापेमारी कर रही है। पटना के एजी कॉलोनी समेत औरंगाबाद और गया में एनआइए की टीम जांच-पड़ताल कर रही है। रोहतास में भी विजय आर्य के सहयोगियों के दो ठिकानों पर एनआईए छापेमारी कर रही है।

विजय आर्य की पत्‍नी व अन्‍य से की पूछताछ 

गया जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर गुरारू प्रखंड के अंतर्गत कोंच थाना क्षेत्र के करमा गांव में स्थित प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के शीर्षस्थ नेता विजय कुमार आर्य के पैतृक घर पर शुक्रवार की सुबह एनआइए की टीम ने छापेमारी की। हालांकि विजय फिलहाल पटना के बेउर जेल में बंद है। छापामारी से गांव के ग्रामीणों में दहशत कायम हो गया। स्थानीय ग्रामीणों ने एनआइए की कार्रवाई से दूरी बना रखा है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुबह करीब 8 बजे  तीन वाहनों पर पुलिस के जवानों के साथ एनआइए की टीम यहां छापेमारी करने पहुंची । एनआइए की टीम घर में मौजूद विजय आर्य की पत्नी किरण देवी व परिवार के अन्य महिला सदस्यों से पूछताछ कर रही है । पुलिस के जवानों के अतिरिक्त पूछताछ करने वाले लोगों में  3 से 4 की संख्या में एनआइए के सदस्य मौजूद है।

IMG 20220723 WA0098

करमा गांव प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के सांस्कृतिक राजधानी के रूप में चर्चित है । इस गांव के निवासी विजय संगठन के केंद्रीय कमेटी में भी अहम जिम्मेदारी निभा चुके हैं । करीब 80 के दशक से वर्ग संघर्ष की आग ने विजय को भी नक्सली संगठन से जुड़ने के लिए मजबूर कर दिया । जिसके बाद उन्होंने कभी समाज के मुख्यधारा से जुड़ाव नहीं रखा ।

IMG 20220728 WA0089

औरंगाबाद और गया में भी छापेमारी

औरंगाबाद में भाकपा माओवादी नक्सली विजय आर्य के दामाद राजद नेता श्याम सुंदर के घर उपहारा थाना क्षेत्र के महेश परासी गांव में एनआइए की टीम शुक्रवार सुबह से छापेमारी कर रही है। श्याम सुंदर की पत्नी शोभा देवी गोह की जिला पार्षद हैं। विजय आर्य की बेटी होने के कारण एनआइए की टीम छापेमारी कर रही है। जो जानकारी मिली है उसके अनुसार जिला पार्षद के घर से कोई आपत्तिजनक सामान नहीं मिला है। घर से कुछ कागजात और पासबुक को एनआइए की टीम ने जब्त किया है। महेश परासी गांव जिला मुख्यालय से करीब 50 किमी दूर है।फीगंज थाना क्षेत्र के चंदौल गांव में विजय आर्य के सहयोगी नक्सली अनिल यादव के घर भी एनआइए की छापेमारी जारी है। अनिल वर्तमान में जेल में है। वहीं गया में करमा गांव में विजय आर्य के घर पर छापेमारी की जा रही है।

IMG 20220828 WA0028

रोहतास से हुई थी विजय आर्य की गिरफ्तारी

बता दें कि 12 अप्रैल को रोहतास के सम्‍हूता गांव के उमेश चौधरी के घर में नक्‍सलियों के छिपे होने की सूचना पर पुलिस टीम ने रेड की थी। वहां से विजय कुमार आर्य उर्फ दिलीप उर्फ अमर उर्फ यशपाल जी उर्फ यशपाल उर्फ प्रभात उर्फ रमण जी उर्फ श्रवण जी, पिता रामजतन सिंह यादव, ग्राम करमा, थाना कोच, जिला गया एवं उमेश चौधरी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार विजय आर्य ने बताया कि वे भाकपा माओवादी नक्‍सली संगठन के केंद्रीय कमेटी (कोयल संघ जोन) के प्रभारी हैं। उनके पास से हार्ड डिस्‍क, पेन ड्राइव और टैबलेट समेत कई नक्‍सली दस्‍तावेज बरामद किए गए थे।

IMG 20220829 WA0006Picsart 22 07 13 18 14 31 808IMG 20220810 WA00481JPCS3 01IMG 20211012 WA0017IMG 20220331 WA0074