तेजस्वी यादव से मिली आरती, प्रेमी छोटू की बहुचर्चित हत्या मामले में कर दी यह मांग

अररिया की आरती और छोटू की प्रेम कहानी देशभर में चर्चा का विषय बन गया। वही छोटू, जिसे प्यार करने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी थी। लेकिन अब उनकी प्रेमिका आरती बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के पास पहुंच गई हैं। न्याय की गुहार लगाते हुए आरती ने कहा कि मैं विधवा बनकर जिऊंगी। मैं अपने प्रेमी के न्याय के लिए लड़ती रहूंगी। आरती ने तेजस्वी यादव के सामने कई बात राखी।

आरती ने तेजस्वी यादव से कहा कि दुनिया ने मेरे छोटू को मुझसे अलग कर दिया है, लेकिन उन सभी को मैं सजा दिलाऊंगी। आरती ने अपनी नाराज़गी जताते हुए कहा कि मैंने घटना की लिखित शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन इस पर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई। आरती की बात सुनते ही तेजस्वी यादव भड़क गए और उन्होंने कहा कि मैं आपको न्याय दिलाने की संभव कोशिश करूंगा। आरती का साफ़ तौर पर यही कहना था कि छोटू के हत्यारों को सज़ा दिलाई जाए।

IMG 20220723 WA0098

आपको बता दें, पिछले महीने ही आरती और छोटू की प्रेम कहानी का अंत हो गया था, जिसे आज भी आरती ज़िंदा रखने की कोशिश कर रही है। छोटू की मौत के बाद आरती की हालत ऐसी हो गई थी कि वह कुछ बोल पाने में सक्षम नहीं थी। लेकिन, अब जैसे-जैसे आरती की स्थिति ठीक हो रही है वह छोटू के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रही हैं।

प्रेमी छोटू की निर्मम हत्या पर एक नजर

इसी साल जुलाई के पहले सप्ताह बिहार के सीमांचल के अररिया जिले से खबर आई कि एक युवक की करंट लगाकर निर्मम हत्या कर दी गई है। मामला अररिया जिले के भरगामा प्रखंड स्थित रहरिया गांव का था। युवक की पहचान छोटू के रूप में हुई।

IMG 20220728 WA0089

पुलिस जब शव लेने पहुंची, तब इस हत्याकांड के पीछे के कारण उस समय स्पष्ट हो गए, जब आरती अपने मृत प्रेमी के शव को छोड़ने का नाम नहीं ले रही थी। मानो वो उसे आंसुओं से जीवित कर देगी। चित्कार मारती आरती छोटू के साथ-साथ पोस्टमार्टम हाउस तक गई। दाह संस्कार में शामिल हुई।

IMG 20220828 WA0028

आरती ने ही बताया कि कैसे उसकी भाभी ने जाल बुना और प्रेमी को फोन कर घर में बुला लिया। आरती ने बताया, ‘मेरा बाबू जब घर पहुंचा तो मैंने उससे पूछा कि तुम यहां क्यों आए हो? उसने बताया कि भाभी ने हमारी शादी के लिए बुलाया है। इसके बाद भाभी के भाई, मेरे भइया, पापा और घर के सभी लोगों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया, मुझे दूसरे कमरे में बंद कर दिया गया। रात को छोटू से बात की गई लेकिन सुबह होते-होते उसके साथ मारपीट की गई। फिर करंट लगाकार छोटू को मौत के घाट उतार दिया गया। मेरे बाबू को मुझसे छीन लिया गया।’

IMG 20220813 WA0041Picsart 22 07 13 18 14 31 808IMG 20220810 WA0048JPCS3 01IMG 20211012 WA00171IMG 20220331 WA0074