बिहार में आज कहर बरपा सकता है मौसम, आइएमडी ने जारी किया रेड अलर्ट

बिहार में मानसून की सक्रियता अचानक बढ़ गई है। खासकर गंगा के तटीय इलाके में अगले दो दिनों तक भारी बारिश के आसार हैं। मौसम विज्ञान विभाग के इस अलर्ट ने बिहार सरकार खासकर पटना के जिला प्रशासन की चिंता कई गुना बढ़ा दी है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि गंगा पहले ही बिहार में खतरे के निशान को पार कर चुकी है। गंगा में यमुना, केन, बेतवा, सोन आदि नदियों के रास्‍ते पानी का आना अब भी जारी है। ऐसे में अगर बिहार में अधिक बारिश होती है, तो बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं। पटना शहर के लोग तीन साल पहले जैसे हालात याद करने लगे हैं।

बिहार में मानसून की सक्रियता बढ़ते हीं अगले दो दिनों तक खास तौर पर उत्तर बिहार में वर्षा की गतिविधियों में वृद्धि होगी। राजधानी समेत प्रदेश के सभी जिलों में वज्रपात, मेघ गर्जन के आसार है। वहीं पटना समेत दक्षिणी भागों में हल्के स्तर की वर्षा का पूर्वानुमान है।

IMG 20220723 WA0098

इन सभी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर बिहार के 12 जिलों के पूर्वी व पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सिवान, सुपौल , अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, मधेपुरा, भागलपुर, बांका जिले के एक या दो स्थानों पर मेघ गर्जन के साथ भारी वर्षा की चेतावनी है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना की ओर से इन जगहों पर रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर रहने की सलाह दी गई है। प्रदेश के पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर एवं बांका जिले में सोमवार को भारी वर्षा का पूर्वानुमान है।

IMG 20220728 WA0089

वहीं मानसून ट्रफ हिमालय के तलहटी भागों से गुजर रही है जबकि चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम बिहार व इसके आसपास इलाकों में स्थित है। इनके प्रभाव से प्रदेश के दक्षिणी भागों में मेघ गर्जन, वज्रपात तो उत्तर बिहार के कुछ जिलों में बहुत भारी वर्षा की चेतावनी है।

IMG 20220713 WA0033

IMG 20211012 WA0017IMG 20220810 WA0048JPCS3 011Picsart 22 07 13 18 14 31 808IMG 20220813 WA0041IMG 20220331 WA0074