बिहार: 1.22 करोड़ कैश और 4 लग्ज़री गाड़ियां बरामद, साइबर अपराधियों के लाइफ स्टाइल देख पुलिस के भी उड़े होश

बिहार के नवादा में साइबर अपराधियों के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। यह जिला साइबर क्राइम का हब बन गया है। जिले के पकरीबरावां पुलिस अनुमंडल के वारिसलीगंज इलाके में छापेमारी में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने छापेमारी के दौरान 01 करोड़ 22 लाख 77 हजार रुपये नगद व एक फॉर्चूनर समेत तीन लग्जरी वाहन बरामद किया। मौके से चार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार भी किया गया। जबकि गिरोह का सरगना मिथिलेश प्रसाद समेत कई अपराधी पुलिस पर फायरिंग करते हुए भाग निकले। लेकिन, किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। मौके से शराब की बोतलें भी बरामद किए गए हैं।

पूरा मामला वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के भवानी बिगहा गांव का है। हैदराबाद की पुलिस भवानी बिगहा गांव छापेमारी करने गयी थी। इस दौरान भुटाली राम के घर पर एक गोदरेज से रुपयों से भरे तीन बड़े एयर बैग बरामद किये गये। तीन बोतल शराब, एपल फोन समेत पांच मोबाइल व कई अन्य आपत्तिजनक सामान भी बरामद किये गए। जब्त वाहनों में फॉचूर्नर के अलावा एक टाटा हैरियर व एक हुंडई आई 20 कार शामिल है। गिरफ्तार अपराधियों में भवानी बिगहा के मिथिलेश का पिता सुरेंद्र प्रसाद, रामस्वरूप राम का बेटा भुटाली राम तथा शेखपुरा जिले के कसार गांव के राजकुमार महतो का बेटा महेश कुमार एवं शेखपुरा के ही पाची गांव का जितेंद्र कुमार शामिल हैं।

advertisement krishna hospital 2

साइबर धोखाधड़ी के मामले में यहां आई थी तेलंगाना की पुलिस

नवादा के एसपी डॉ. गौरव मंगला ने वारिसलीगंज थाना में पूरे घटनाक्रम का खुलासा करते हुए कहा कि तेलंगाना के सायबराबाद में साइबर फ्रॉड से जुड़ा एक मामला कांड संख्या 488/2022 दर्ज हुआ था। दर्ज केस में बताया गया है कि यह गिरोह लोगों को नकली फ्रेंचाइजी देने के नाम पर उनसे फाइनेंशियल डीटेल ले लेता है और उनके खाते से रूपये गायब कर देता है। अपराधियों की तलाश में आयी पुलिस के साथ वारिसलीगंज पुलिस द्वारा संयुक्त कार्रवाई में कैश व कारें बरामद हुईं। गिरोह का सरगनामिथिलेश फायरिंग करते हुए भाग निकला। चार की गिरफ्तारी हुई है। छापेमारी व तलाशी अभियान अभी भी जारी रहेगी। प्रेस कांफ्रेंस में पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा भी मौजूद थे।

IMG 20220728 WA0089

तीनों एयर बैग से बरामद किये गये अधिकांश नोट पांच सौ के थे। इनकी गिनती के लिए नोट गिनने वाली मशीन मंगाई गयी। पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा की देखरेख में नोटों की गिनती की गयी। गिनती उपरांत बरामद किये गये कुल रुपयों का खुलासा किया गया।

IMG 20220713 WA0033

फायरिंग के बाद पुलिस को पीछे हटना पड़ा

मिथिलेश प्रसाद के घर पर छापेमारी करने गयी पुलिस टीम पर अपराधियों ने अचानक फायरिंग कर दी। कुछ देर के लिए पुलिस को पीछे हटना पड़ा। इस बीच साइबर सरगना मिथिलेश प्रसाद समेत उसके कई साथी भाग निकले। मिथिलेश के घर से तीनों लग्जरी गाड़ियां बरामद की गयी। एक कार के भीतर से डेढ़ बोतल शराब भी बरामद की गयी।

IMG 20220802 WA0120

अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई

भवानी बिगहा गांव में की गयी छापेमारी अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई बतायी जाती है। इससे पूर्व करीब चार वर्ष पहले महाराष्ट्र पुलिस ने वारिसलीगंज बाईपास में छापेमारी कर कल्लू नामक एक युवक को 56 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया था। जबकि तेलंगाना पुलिस ने दो वर्ष पूर्व देवर व भाभी को 30 लाख नगद के साथ गिरफ्तार किया था।

Picsart 22 07 13 18 14 31 808JPCS3 01Sticker Final 01IMG 20211012 WA0017IMG 20220810 WA0048IMG 20220331 WA0074