नीतीश सरकार के सहयोगी दल ही मुआवजे पर अड़े, कांग्रेस ने की मांग तो CPIML ने कहा- पूरे बिहार में करेंगे प्रदर्शन

बिहार में जहरीली शराब से हुई मौत के बाद एक तरफ नीतीश कुमार ने साफ कह दिया है कि वह मुआवजा नहीं देंगे तो वहीं कांग्रेस और सीपीआईएमएल इसके विरोध में है. नीतीश के सहयोगी दल कांग्रेस और सीपीआईएमएल के नेताओं का कहना है कि मुआवजा जरूर मिलना चाहिए. कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और विधायक शकील अहमद खान ने कहा कि यह आपदा है जो लोगों ने पीकर व पिला कर खुद किया है. मृतकों के परिजनों को मुआवजा मिलना चाहिए. जो लोग शराब बेचे उनसे वसूल कर पैसा मृतकों के परिजनों को मिलना चाहिए. कानून में जो प्रावधान है उस हिसाब से मिले.

बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन विधानसभा परिसर में सीपीआईएमल (CPIML) के सभी 12 विधायकों ने प्रदर्शन किया. जहरीली शराब कांड में मरे लोगों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की. विधायक दल के नेता महबूब आलम ने कहा कि मुआवजा देने का प्रावधान है.

IMG 20220723 WA0098

नीतीश कुमार से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

महबूब आलम ने कहा कि गोपालगंज में मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपया दिया गया था. छपरा में भी मृतकों के परिजनों को मिलना चाहिए. जो लोग शराब बेचे, पिलाए उनसे वसूल कर पैसा मृतकों के परिजनों को देना चाहिए. पूरे बिहार में आज सीपीआईएमएल विरोध प्रदर्शन करेगी. जनता के हित के हम लोगों को मतलब है. नीतीश कुमार से हमारा प्रतिनिधिमंडल मिलेगा.

IMG 20220728 WA0089

बता दें कि इसके पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह ने भी यह कहा था कि मृतकों के परिजनों को मुआवजा मिलना चाहिए. कांग्रेस चाहती है कि जो मरे हैं उन्हें मुआवजा मिले. वह गरीब हैं. इसको लेकर उनकी पार्टी मुख्यमंत्री से मिलेगी. इसको लेकर हमलोग प्रयास करेंगे.

JPCS3 01

IMG 20221130 WA0095IMG 20211012 WA00171 840x760 1IMG 20221203 WA0074 01Samastipur News Page Design 1 scaledIMG 20221203 WA0079 01Post 183

Leave a Reply

Your email address will not be published.