बिहार में 11 और लोगों की वज्रपात से मौ’त, 48 घंटे में ठनका गिरने से 25 की जान गई

बिहार में एक बार फिर आसमान से आफत बरसी है। राज्य में ठनका गिरने से अलग-अलग हिस्सों में शुक्रवार को 11 और लोगों की मौत हो गई। गया में तीन बच्चों सहित 5, जबकि भोजपुर, औरंगाबाद और जहानाबाद में दो-दो लोगों की जान आकाशीय बिजली गिरने से चली गई। एक दिन पहले भी राज्य में वज्रपात से 7 लोगों की मौत हुई थी। बीते 48 घंटे में ठनका की चपेट में आने से 25 लोगों की जान जा चुकी है।

गया जिले के डोभी में शुक्रवार को ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। यहां दूसरी घटना में एक अन्य महिला की मौत हो गई। जबकि इमामगंज में भी वज्रपात से एक बच्चे ने दम तोड़ दिया। स्थानीय लोगों के मुताबिक शुक्रवार को डोभी प्रखंड के डेरा निवासी रंजन मंडल की पत्नी 30 वर्षीय अनीता देवी, पुत्र सात वर्षीय सन्नी और छह वर्षीय शिवानी ठनका की चपेट में आ गए।

IMG 20220723 WA0098

वहीं, डोभी के ही एक अन्य रटनी गांव में संतोष यादव की पत्नी सीता देवी की मौत मौके पर ठनका गिरने से हो गई। गया में हुई तीसरी वज्रपात की घटना में इमामगंज के रौंशा गांव में दस साल के बच्चे की भी जान चली गई।

भोजपुर जिले के तरारी में ठनका गिरने से पूर्व वार्ड सदस्य की मौत हो गई तो वहीं सहार मे एक सहायिका की जान चली गयी। जहानाबाद में ठनका की चपेट में आने से एक युवती व एक किशोर ने दम तोड़ दिया। औरंगाबाद जिले के हसपुरा थाना के बाघाकोल गांव के एक बधार में ठनका गिरने से दो लोगों की मौत हो गई।

IMG 20220728 WA0089

मुख्यमंत्री नीतीश ने जताया दुख

बिहार में वज्रपात से हुई मौतों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुख जताया है। उन्होंने प्रभावित परिवारों के प्रति अपनी गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। सीएम नीतीश ने तत्काल मृतक के परिजनों को चार-चार लाख अनुग्रह अनुदान राशि देने का निर्देश पदाधिकारियों को दिया है। उन्होंने कहा है कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं।

IMG 20220828 WA0028

1IMG 20220810 WA0048IMG 20220829 WA0006Picsart 22 07 13 18 14 31 808JPCS3 01IMG 20211012 WA0017IMG 20220331 WA0074