पटना में शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज, तेजस्वी यादव बोले- ‘दोषी अधिकारी पर होगी कार्रवाई’

बिहार की राजधानी पटना में टीचर भर्ती की मांग करने वाले अभ्यर्थियों पर SDM द्वारा लाठीचार्ज के मामले में जिला प्रशासन ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है. राज्य के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा- “हमारी जिलाधिकारी से बात हुई हमने वो तस्वीर देखी है. स्टूडेंट्स से प्रार्थना है कि थोड़ा इंतजार कीजिए. ये आपकी सरकार है और सब लोगों से बात भी कर रहे हैं. हम लोग गंभीर हैं और जांच कमेटी बन गई है. इसमें शीघ्र कार्रवाई होगी.”

डिप्टी सीएम ने कहा ” हम बीजेपी के लोग नहीं है केवल जुमलेबाजी कर रहे हैं. रोजगार औऱ नौकरी की दिशा में काम हो रह हैं. बिहार के छात्र और छात्राओं के लिए काम करना है.” तेजस्वी यादव ने कहा – “ऐसा नहीं होना चाहिए था. DM से बात हुई जांच कमिटी बना दी गई है. इस मामले को लकेर हम गंभीर है. युवाओं को घबराने की जरूरत नहीं.” वहीं पटना के जिलाधिकारी ने भी कार्रवाई का आश्वासन दिया है. APB से बात करते हुए पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा “एडीएम पर कार्रवाई होगी.”

IMG 20220723 WA0098

राष्ट्रीय ध्वज लिए छात्र की पिटाई

इसके अलावा तेजस्वी यादव के दफ्तर के ट्विटर अकाउंट से वीडियो ट्वीट कर बयान जारी किया गया. इसमें कहा गया- “माननीय उपमुख्यमंत्री जी ने पटना जिलाधिकारी से फोन पर वार्ता की. DM ने पटना Central SP और DDC के नेतृत्व में एक जाँच कमेटी का गठन किया है कि ADM ने अभ्यर्थियों पर स्वयं लाठीचार्ज क्यों किया, ऐसी क्या नौबत थी?दोषी पाए जाने पर संबंधित अधिकारी पर कारवाई होगी.”

IMG 20220728 WA0089

तीन साल से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा- प्रदर्शनकारी

बता दें पटना में टीचर की भर्ती के लिए सातवें चरण की बहाली को लेकर शिक्षक अभ्यर्थियों ने डाक बंगला चौराहा को जाम किया. इसी बीच एक अभ्यर्थी राष्ट्रीय ध्वज लेकर विरोध करने पहुंच गया. फिर पुलिस और एडीएम ने उसकी पिटाई की. पिटाई से वह घायल हो गया. इस पिटाई का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि तीन साल से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा और सरकार नौकरी देने के वादे कर रही है.

IMG 20220713 WA0033

बिहार के विभिन्न जिले के शिक्षक पात्रता परीक्षा सीटीईटी और एसटीईटी पास अभ्यर्थी पटना पहुंचे और नियुक्ति की मांग को लेकर डाक बंगला चौराहे पर हंगामा करना प्रारंभ कर दिए. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इधर, पुलिस प्रशासन ने इन अभ्यर्थियों को हटाने की कोशिश की, लेकिन वे कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे. इसके बाद पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी.

प्रदर्शकारियों का आरोप है कि सरकार पिछले तीन से चार साल से केवल आश्वासन दे रही है. अब तक कुछ नहीं हुआ. एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि तेजस्वी यादव कहते थे कि पहली कैबिनेट की बैठक में 10 लाख लोगों को नौकरी दी जाएगी, अब वे उप मुख्यमंत्री बन गए हैं. उन्होंने आगे कहा कि वे पहले कहते थे कि सरकार बदलिए, अब तो सरकार भी बदल गई. अब हमलोग कब तक इंतजार करें.

IMG 20220802 WA0120Picsart 22 07 13 18 14 31 8081IMG 20220810 WA0048IMG 20211012 WA0017JPCS3 01IMG 20220331 WA0074