बिहार: सहारा इंडिया के खिलाफ फूटा किन्नरों का गुस्सा, ब्रांच मैनेजर को खींचकर बीच सड़क पर साड़ी ओढ़ाकर नचवाया; 3 घंटे सड़क जाम

सहारा इंडिया द्वारा निवेशको के पैसे ना लौटाने को लेकर एक तरफ निवेशक परेशान है, वहीं अब इसको लेकर किन्नर समाज ने भी हल्ला बोल दिया है। बिहार के मुजफ्फरपुर में शुक्रवार को सैकड़ों की तादाद में पहुंचे किन्नरों ने कार्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। सड़क जामकर कर मैनेजर को बंधक बना डाला। इसके बाद उसे नचवाया गया। साथ ही साड़ी ओढ़ाया गया।

मामला जिले के ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र स्थित जुरन छपरा मेन रोड का है। यहां किन्नरों ने सड़क को पूरी तरह जाम कर दिया। कार्यालय को बंद करा दिया गया। इस दौरान मौके पर अफरातफरी की स्थिति बन गई। जुरन छपरा से लेकर ब्रह्मपुरा तक सड़क पूरी तरह जाम हो गया। कई वाहन इसमें बुरी तरह फंस गए।

IMG 20220723 WA0098

3 घंटे से अधिक समय तक किया सड़क जाम

बताया जा रहा है कि 3 घंटे से अधिक समय तक सड़क जाम रहा। जानकारी के अनुसार किन्नरों की टोली कार्यालय के पास पहुंची थी। वे अपने रुपए की मांग कर रहे थे। पैसे नही मिलने पर उन्होंने शाखा प्रबंधक को बंधक बना लिया। बीच सड़क पर उन्हें गाली दी गई। हाथ पकड़कर उन्हें नचवाया गया। सिर पर साड़ी तक डाल दिया गया।

IMG 20220728 WA0089

इस दौरान मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इधर, हंगामे की सूचना पर पहुंची ब्रह्मपुरा पुलिस ने जाम खाली कराने का प्रयास किया। लेकिन, किन्नर नंगा होने की कोशिश करने लगे। जिसके बाद पुलिस पीछे हट गई। हालांकि, पुलिस की ओर से काफी समझाया गया। जिसके बाद मैनेजर को मुक्त किया गया।

IMG 20220713 WA0033

किसी का 16 तो किसी का 17 हजार है बाकी

किन्नरों ने कहा कि वे लोग 10 साल से पैसे जमा कर रहे थे। साल 2021 में ही इनका भुगतान करना था। लेकिन, बैंक की तरफ से केवल दौड़ाया जा रहा है। बताया गया कि केवल किन्नर ही नहीं, अन्य लोग भी आक्रोशित हैं। आक्रोशितों ने कहा कि कई बुजुर्ग महिलाओं ने चौका-बर्तन करके पैसे जमा किए थे। ताकि, समय पर उन्हें पैसे काम आए। लेकिन, सबको दौड़ाया जा रहा है। पूछने पर बताया जाता है कि कोर्ट का केस चल रहा है।

किन्नरों ने कहा कि जब केस लंबित था, तो उनसे पैसे क्यों वसूले गए। पैसा वसूली रोकना चाहिए था। लेकिन, पैसे वसूलना जारी रहा। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर पैसे नही मिलेंगे तो मैनेजर की पिटाई करके अस्पताल भेजेंगे। लेकिन, पैसे लेकर रहेंगे।

IMG 20220813 WA0041

2021 में करना था भुगतान, 2022 के अंतिम तक होगा

इधर, मामले में मैनेजर संजय कुमार झा ने बताया कि 10 वर्ष पहले रुपए जमा कराया गया था। जिसका भुगतान 2021 में करना था। लेकिन, भुगतान अभी लंबित है। उन्होंने कहा कि कोर्ट में मामला चल रहा है। जिसकी वजह से अभी दिक्कते आ रही है। उन्होंने सबको भरोसा दिलाया कि 2022 के अंत तक सभी का पैसा दे दिया जाएगा।

Picsart 22 07 13 18 14 31 8081JPCS3 01IMG 20211012 WA0017IMG 20220810 WA0048IMG 20220331 WA0074