जेल की जगह आनंद मोहन के घर पहुंचने पर मुख्यालय ने एसपी लिपि सिंह से मांगी रिपोर्ट, कई पुलिसकर्मी निलंबित

एमपी-एमएलए कोर्ट में पेशी के लिए 12 अगस्त को पटना लाये गये पूर्व सांसद आनंद मोहन पेशी के बाद सहरसा जेल लाैटने की जगह पाटलिपुत्र स्थित अपने आवास पहुंच गये. यहां उन्होंने परिवार और समर्थकों के साथ बैठक की. इस बैठक का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अपर पुलिस महानिदेशक पुलिस मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार ने इसे गंभीरता से लेते हुए सहरसा की एसपी लिपि सिंह से पूछा है कि जिला बल साथ था तो वह घर कैसे पहुंच गये? हालांकि सहरसा जेल प्रशासन ने खुद को इससे अनभिज्ञ बताया है.

चार सहायक आरक्षी और एक सह चालक निलंबित

इधर, पेशी के लिए ले जाने स्काॅर्ट दल को निलंबित कर दिया है. एसपी लिपि सिंह ने बताया कि एक एएसआइ, एक बीएमपी, चार सहायक आरक्षी और एक सह चालक को निलंबित कर दिया गया है. एसपी ने बताया कि इसमें जेल प्रशासन की भूमिका भी संदिग्ध है. इसकी जांच होगी. जिलाधिकारी भी इस मामले को लेकर गंभीर हैं.

IMG 20220723 WA0098

डीएम जी कृष्णैया हत्याकांड में सजायाफ्ता हैं पूर्व सांसद

गोपालगंज के तत्कालीन डीएम जी कृष्णैया हत्याकांड में आजीवन कैद की सजा काट रहे आनंद मोहन को सहरसा जेल सेपटना एमपी- एमएलए कोर्ट में लाया गया था. जो फोटो सोशल मीडिया पर वायरल है, उसमें उनके पुत्र व राजद िवधायक चेतन आनंद, पत्नी लवली आनंद आदि लोग नजर आ रहे हैं. प्रभात खबर वायरल फोटो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.

IMG 20220728 WA0089

पुत्र चेतन आनंद बोले- सिर में दर्द होने पर अस्पताल गये थे

आनंद मोहन के बेटे राजद विधायक चेतन आनंद ने कहा कि दीघा होकर लौटने के क्रम में आनंद मोहन के सिर में दर्द होने लगा. वह चांद मेमोरियल अस्पताल में जांच कराने पहुंचे. इस अस्पताल के दूसरी तरफ आवास है, जहां कुछ लोग खड़े थे. उन्हें देख कर वह इधर चले आये. इसे बेवजह मुद्दा बनाया जा रहा है. बैठक करने की बात पूरी तरह बेबुनियाद है.

IMG 20220713 WA0033

IMG 20211012 WA0017IMG 20220810 WA0048IMG 20220802 WA0120Picsart 22 07 13 18 14 31 808JPCS3 01Sticker Final 01IMG 20220331 WA0074