छोड़ो कल की बात, करते हैं नई शुरुआत… तेजस्वी यादव के घर बेहद नरम दिखे नीतीश कुमार

advertisement krishna hospital 2

व्हाट्सएप पर हमसे जुड़े 

बदले-बदले सरकार नजर आते हैं…। राजभवन पहुंचकर सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद नीतीश कुमार जब तेजस्वी यादव से मिलने राबड़ी देवी के आवास पहुंचे तो उनका अंदाज कुछ ऐसा ही था। अकसर आरजेडी के शासनकाल को जंगलराज बताने वाले नीतीश कुमार उसके प्रति काफी नरम दिखे। यही नहीं आरजेडी के साथ मिलकर आगे बढ़ने की बातें भी कीं। उन्होंने राबड़ी देवी के आवास पर कहा कि आइए नई शुरुआत करते हैं। जो कुछ हुआ, उसे भूलकर हमें आगे बढ़ना है। बिहार के लिए काम करना है। यही नहीं 2017 में आरजेडी से गठबंधन तोड़ने को लेकर नीतीश कुमार ने अफसोस भी जताया।

राजभवन से इस्तीफा देकर तेजस्वी यादव से मुलाकात करने पहुंचने को भी नीतीश कुमार की ओर से एक संकेत माना जा रहा है। इस बीच नीतीश कुमार को महागठबंधन का नेता चुन लिया गया है। बिहार की राजनीति पर नजर रखने वाले मानते हैं कि नीतीश कुमार की रणनीति ने भाजपा को इस बार करारा झटका दिया है।

कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार को बिहार की सियासत में अमित शाह के बढ़ते दखल से दिक्कत थी। लेकिन वह उनकी काट नहीं निकाल पा रहे थे। इसकी वजह यह थी कि एक तरफ भाजपा की सेंट्रल लीडरशिप उनकी सुनने को तैयार नहीं थी तो वहीं प्रदेश स्तर के नेता उन पर हमला बोलते थे। ऐसे में नीतीश कुमार ने पालाबदल का ही फैसला कर लिया।

IMG 20220713 WA0033

नीतीश कुमार के इस फैसले को लेकर जानकारों का कहना है कि उन्हें अमित शाह जैसे नेता के मुकाबले तेजस्वी यादव से डील करना आसान होगा। तेजस्वी यादव उनसे उम्र में छोटे हैं और प्रशासनिक अनुभव भी कम है। इसके अलावा लालू यादव सीन से बाहर हैं। ऐसी स्थिति में नीतीश कुमार को लगता है कि वह तेजस्वी यादव से आसानी से डील कर लेंगे। उन्हें लगता है कि आरजेडी का जनाधार और अपनी छवि के सहारे वह आसानी से इस कार्यकाल को पूरा कर पाएंगे। यही वजह है कि नीतीश कुमार ने 5 साल से कम के अंतर में ही पालाबदल कर लिया है।

IMG 20220728 WA0089

इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नीतीश कुमार पर धोखे का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने जनता और भाजपा को धोखा दिया है। जनता की ओर से एनडीए को मैन्डेट दिया गया था और उसका साथ छोड़कर नीतीश कुमार ने जनमत को अपमानित किया है। संजय जायसवाल ने कहा, ‘भाजपा बिहार के जनता के हितों को सोचती है। नीतीश कुमार की पार्टी ने कम सीट जीतीं। लेकिन पीएम मोदी के कहने पर हमने उन्हें सीएम बनाया। लेकिन जनता के साथ उन्होंने धोखा किया। बिहार की जनता कभी उन्हें माफ नहीं करेगी।’

Picsart 22 07 13 18 14 31 808

IMG 20211012 WA0017

IMG 20220802 WA0120

Sticker Final 01

IMG 20220413 WA0091

IMG 20220331 WA0074

Advertise your business with samastipur town