‘किसी भी पेय पदार्थ पर प्रतिबंध लगाना मानसिक दिवालियापन’, शराबबंदी पर राजद MLA का नीतीश पर वार

व्हाट्सएप पर हमसे जुड़े 

बिहार के सारण जिले में जहरीली शराब से अबतक 28 लोगों के मरने की खबर आ रही है। इस बीच नीतीश कुमार के अपने खेमे के लोग ही शराबबंदी की नीति पर सवाल खड़े करने लगे हैं। राजद विधायक सुधाकर सिंह ने सीएम को मानसिक दिवालियापन से ग्रसित बताया है।

पटना, जागरण डिजिटल डेस्क। बिहार के छपरा जिले में बीते 24 घंटे के दौरान जहरीली शराब के कारण 28 लोगों के मरने की खबर आई है। इस बीच शराबबंदी की नीति को लेकर नीतीश कुमार के फैसले पर एक बार फिर से सवाल उठ रहे हैं। इस कड़ी में उनके अपने खेमे के लोग भी पीछे नहीं हैं।

सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ हमेशा से तल्ख तेवर अपनाने वाले राजद विधायक और पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह ने भी शराबबंदी के फैसले को लेकर सीएम नीतीश पर निशाना साधा है। राजद विधायक ने मुख्यमंत्री को मानसिक दिवालियापन से ग्रसित बताया है।

शराब पीना क्रिमिनल एक्ट नहीं- राजद विधायक

राजद विधायक सुधाकर सिंह ने कहा कि मेरा मत स्पष्ट है कि किसी भी खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थ पर प्रतिबंध लगाना मानसिक दिवालियापन है। आप प्रतिबंध नहीं लगा सकते। जागरूकता और परामर्श के माध्यम से आपको लोगों को यह समझाना चाहिए कि शराब का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। राजद विधायक ने आगे कहा कि शराब का सेवन करना क्रिमिनल एक्ट का हिस्सा नहीं बल्कि सिविल एक्ट का हिस्सा है। कई चीजें हैं जो गलत हैं लेकिन उनके लिए किसी को जेल भेजना न्यायोचित नहीं है।

सारण में जहरीली शराब से 28 की मौत

बता दें कि सारण जिले में बुधवार को जहरीली शराब से 14 लोगों के मरने की खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि सभी ने मिलकर एक साथ सोमवार की रात को शराब का सेवन किया था। इसके बाद मंगलवार के दिन से उनकी हालत बिगड़ने लगी। शाम में सभी को मसरख स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। वहां इलाज के बाद छपरा रेफर किए जाने पर तीन लोगों की मौत हो गई थी। अबतक छह लोगों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लायागया है।

ProductMarketingAdMaker 14102019 082310

20201015 075150

Leave a Reply

Your email address will not be published.