बिहार: शादी की रस्म अदा कर लौट रहीं 15 महिलाओं और बच्चों को पिकअप वैन ने कुचला, लोगों ने फूंक डाला

बिहार में पटना जिले के घोसवरी में लड़की की शादी से पहले देवपूजन कर लौट रही 60-70 महिलाओं के झुंड में बेकाबू पिकअप वैन घुस गई। इस हादसे में करीब 15 महिलाएं और बच्चे जख्मी हो गईं। इनमें एक की हालात नाजुक बनी हुई है। हादसे के बाद घटनास्थल पर अफरातफरी मच गई। शादी की खुशियों का माहौल गम में बदल गया। हादसा रविवार शाम साढ़े छह बजे घोसवरी के सरमेरा-मोकामा एनएच-82 पर घोसवरी पीएचसी समीप हुआ। हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने वैन चालक को पकड़कर खूब पीटा। वैन को आग के हवाले कर दिया।

ग्रामीणों का आरोप है कि पिकअप चालक शराब के नशे में था। मौके पर पहुंची घोसवरी थाने की पुलिस ने जख्मी चालक को अपने कब्जे में लिया। फायर बिग्रेड की मदद से आग को बुझाया गया। चालक की पहचान शेखपुरा के अमारी गांव निवासी शम्भू शरण पांडेय (56 वर्ष) के रूप में हुई है। घोसवरी थाने के प्रभारी थानाध्यक्ष जयशंकर कुमार ने बताया कि हादसे में कुल 11 घायल महिलाओं का इलाज अस्पताल में कराया गया। सभी की स्थिति खतरे से बाहर है।

IMG 20220723 WA0098

हादसे के बाद शादी की तैयारी में जुटे लोग दौड़े अस्पताल की ओर

घोसवरी निवासी बालेश्वर शर्मा की बेटी की रविवार को शादी थी। टाटानगर से बारात आई थी। शादी से पहले 60-70 महिलाएं डीजे के गाने पर नाचते-झूमते देवपूजन कर घर लौट रही थी। अचानक सरमेरा से मोकामा की ओर जा रही पिकअप वैन महिलाओं के झुंड में घुस गई। इसके बाद अफरातफरी मच गई। बारात आगमन को लेकर घर के पुरुष सदस्य तैयारी जुटे थे। देवपूजन के बाद बारात दरवाजा लगती लेकिन जैसे ही हादसे की खबर मिली सारे लोग अस्पताल की ओर दौड़ पड़े।

IMG 20220728 WA0089

जख्मियों से पटे अस्पताल का दृश्य देखकर खुशियों का माहौल गमगीन हो गया। वैन शेखोपुर सराय थाने के नीमी गांव से परवल की लत्ती लादकर बेगूसराय के तेघड़ा जा रही था। घोसवरी थाने के प्रभारी थानाध्यक्ष जयशंकर कुमार ने बताया कि हादसे में कुल 11 घायल महिलाओं का इलाज अस्पताल में कराया गया। सभी की स्थिति खतरे से बाहर है। चालक को हिरासत में ले लिया गया। वैन जब्त कर ली गई है। जांच की जा रही है।

JPCS3 01

IMG 20211012 WA00171 840x760 1IMG 20221017 WA0000 01IMG 20221117 WA0072IMG 20221130 WA0095IMG 20221115 WA0005 01Post 183

Leave a Reply

Your email address will not be published.