बिहार: निगरानी विभाग की बड़ी कार्रवाई, DSP विनोद कुमार रावत के ठिकानों पर छापा

बिहार में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ निगरानी विभाग लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी कड़ी में निगरानी विभाग की टीम पटना में एक डीएसपी के ठिकानों पर आज डीएसपी बीके राउत के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। बीके राउत के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला पाया गया है।

विजिलेंस की टीम बीके रावत यानी विनोद कुमार रावत के दिनकर गोलंबर स्थित फ्लैट पर छापेमारी कर रही है। इनके कई होटलों में निवेश और बाकी जानकारी भी विजिलेंस के पास मिली है। जिसके बाद भ्रष्टाचार को लेकर यह कार्यवाही की जा रही है। आपको बता दें कि बीके राउत फिलहाल गया बीएमपी में तैनात थे।

IMG 20220723 WA0098

दरअसल, यह पहला मामला नहीं है जब बीके राउत पर आरोप लगा हो, इससे पहले भी इनके खिलाफ गंभीर आरोप लगते रहे हैं। बता दें कि पिछले साथ दिसंबर महीने में डीएसपी बीके राउत के दो वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए थे। एक वीडियो में बीके राउत का किसी लड़की के साथ अश्लील बातचीत करने का मामला सामने आया था जबकि दूसरे वीडियो में वे एक जाति विशेष को लेकर गाली गलौज करते दिखे थे।

IMG 20220728 WA0089

वीडियो वायरल होने के बाद सांसद छेदी पासवान ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखा था और सासाराम डीएसपी को हटाने की मांग की थी। 27 दिसंबर 2021 को सीएम नीतीश के सासाराम दौरे से ठीक पहले डीएसपी बीके राउत का तबादला कर दिया गया था। गृह विभाग द्वारा जारी सूचना में विनोद कुमार राउत को सासाराम डीएसपी से हटाकर बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस बल-17 बोधगया भेज दिया गया था। वहीं डीएसपी विशेष सुरक्षा बल संतोष कुमार राय को सासाराम का DSP बनाया गया था।

डीएसपी बीके राउत के दोनों वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए थे। एक वीडियो में उन्होंने एक युवती से अश्लील बातचीत थी वहीं दूसरे में वे कुछ जाति को लेकर गाली देते दिखे थे। इस मामले को लेकर पुलिस एवं प्रशासनिक हलकों में डीएसपी की खूब चर्चा हुई थी।

IMG 20220828 WA0028

IMG 20220829 WA0006Picsart 22 07 13 18 14 31 808JPCS3 011IMG 20220810 WA0048IMG 20211012 WA0017IMG 20220331 WA0074