बिहार सरकार का आईटीआई छात्रों को बड़ा तोहफा, डेढ़ लाख छात्र-छात्राओं को मिली ये राहत

बिहार के राजकीय एवं निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आइटीआइ) में प्रशिक्षण लेने वाले तकरीबन डेढ़ लाख विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन फीस नहीं देना पड़ेगा। बिहार सरकार ने आइटीआइ के सभी विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन फीस नहीं लेने का फैसला लिया है। शुक्रवार को श्रम संसाधन और सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री जिवेश कुमार ने इसकी जानकारी दी। कहा कि विभाग की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।

नियमों से अधिक वसूल कर रहे थे आइटीआइ संचालक

मंत्री जिवेश कुमार ने बताया कि आइटीआइ के विद्यार्थियों के हित में रजिस्ट्रेशन फीस माफ करने का फैसला लिया गया है। इससे पहले श्रम संसाधन विभाग की ओर से आइटीआइ के सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों से सौ रुपये और अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों से 50 रुपये रजिस्ट्रेशन फीस लेने का प्रविधान था।

IMG 20210828 WA0063

यहां बता दें कि विभाग को ऐसी शिकायतें मिली थीं कि प्रविधान की अवहेलना कर दो सौ रुपये प्रति विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन फीस वसूल किया जा रहा है।

IMG 20220211 221512 618IMG 20220215 WA0068

निजी आईटीआइ के खिलाफ अधिक थी शिकायतें

खासकर ये शिकायतें निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों से मिली थीं। अब सरकार के फैसले से यह तय है कि हर साल आइटीआइ में नामांकन लेने और पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों का रजिस्टे्रशन फीस नहीं देना पड़ेगा।

IMG 20210821 WA0008IMG 20220331 WA0074IMG 20211012 WA0017IMG 20211031 WA0072 01IMG 20211024 WA0080