दो वर्ष पूर्व BRB काॅलेज के बैंक खाता से फर्जी तरीके से निकाले गये 27 लाख रुपये बैंक ने किया वापस

advertisement krishna hospital 2

व्हाट्सएप पर हमसे जुड़े 

समस्तीपुर :- फर्जी चेक द्वारा बीआरबी कॉलेज स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शाखा स्थित कॉलेज के खाते से 27 लाख 900 रूपये निकासी के मामले में बुधवार को नया मोड़ आ गया। बलिराम भगत महाविद्यालय की धमकी के बाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के खाता से अवैध निकासी की गई 27 लाख रुपये वापस कर दी गई है। इससे महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. बीरेंद्र कुमार चौधरी सहित प्राध्यापकों ने खुशी का इजहार किया। प्रधानाचार्य ने बताया कि दो वर्ष पूर्व महाविद्यालय की बैंक खाता से जाली चेक से अवैध रूप से राशि की निकासी कर ली गई थी। तत्कालीन प्रधानाचार्य डॉ. एलपी जायसवाल ने मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। उसके उपरांत पुलिसिया कार्रवाई धीमी गति से चलने की वजह से मामला ठंडे बस्ते में चला गया था।

इसके बाद वर्तमान प्रधानाचार्य डॉ. बीरेंद्र कुमार चौधरी ने अथक प्रयास कर राशि वापस ली। उन्होंने कुलपति और कुल सचिव से मिलकर पूरे मामले से अवगत कराया। साथ ही बैंक के वरीय अधिकारियों से भी संपर्क किया। बैंक ने प्रधानाचार्य से क्षतिपूर्ति बांड पर हस्ताक्षर कराने के बाद मंगलवार को कॉलेज के खाता में उक्त राशि हस्तांतरित कर दी। मौके पर प्रो. रोहित प्रकाश, विकास कुमार पटेल, शकील अहमद, डॉ. बिध्यांचल, देवेंद्र चौधरी, डीएन यादव, जितेंद्र मोहन, राजेश रंजन, राम प्रकाश प्रसाद, सुरेश सिंह, मो. तैयब, राम भरोष शर्मा आदि उपस्थित रहे।

काॅलेज परिसर से बैंक शाखा को अन्यत्र शिफ्ट करने की दी चेतावनी :

प्रधानाचार्य ने बैंक के शाखा प्रबंधक को महाविद्यालय के खाता से धोखाधड़ी से निकाली गई राशि को बिना शर्त वापस करने की मांग की थी। अन्यथा राशि वापस नहीं करने पर कॉलेज कैंपस से शाखा को अन्यत्र शिफ्ट कर महाविद्यालय का मकान खाली करने को कहा था। इसमें स्पष्ट किया था कि जब जाली चेक से अवैध निकासी हो जाती है तो बैंक का सर्वप्रथम धर्म उक्त राशि को तत्काल संबंधित खाते में वापस कर देने का होता है कितु महाविद्यालय द्वारा राशि वापस करने हेतु विभिन्न पत्रों के माध्यम से अनुरोध किया गया था। इसके बाद भी राशि वापस करने में टाल मटोल की जाती रही। इसको लेकर राशि वापस करने या मकान खाली करने की चेतावनी दी गई थी। जिसके बाद राशि वापस की गई है।

दो वर्ष पूर्व BRB काॅलेज के बैंक खाता से फर्जी तरीके से निकाले गये 27 लाख रुपये बैंक ने किया वापस समस्तीपुर Town

दो जाली चेक से हुई थी अवैध निकासी :

कॉलेज की जाली चेक बनाकर उससे अवैध रूप से राशि की निकासी कर ली गई थी। इसमें दिनांक 16 मार्च 2019 को 9 लाख 20 हजार 700 रुपये और 19 मार्च 2019 को 17 लाख 80 हजार 200 रुपये की निकासी कर ली गई थी। इससे कुल 27 लाख 900 रुपये की निकासी हुई। अवैध निकासी जाली चेक से मनोज कुमार आर भंसाली नामक व्यक्ति द्वारा की गई।

पूर्व प्रधानाध्यापिका व जालसाज के खिलाफ दर्ज हुई थी प्राथमिकी :

तत्कालीन प्रधानाचार्य डॉ. एलपी जायसवाल ने अवैध रूप से जाली चेक से राशि निकासी मामले में मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें पूर्व प्रधानाचार्य डॉ. मीना प्रसाद एवं मनोज कुमार आर भंसाली को अभियुक्त बनाया गया था। दोनों जाली चेक मनोज ने मुजफ्फरपुर स्थित फेडरल बैंक में जमा की। इसके बाद उक्त बैंक से दोनों जाली चेक का क्लियरिग कर दिया गया।

दो वर्ष पूर्व BRB काॅलेज के बैंक खाता से फर्जी तरीके से निकाले गये 27 लाख रुपये बैंक ने किया वापस समस्तीपुर Town

इसमें स्पष्ट किया गया था कि फर्जी चेक के क्लीयरिग के दौरान अधिकारियों द्वारा महाविद्यालय के तत्कालीन प्रधानाचार्य से न तो उनके मोबाइल पर फोन कर कोई संपुष्टि ली गई और महाविद्यालय कैंपस में बैंक रहते हुए भी न ही महाविद्यालय कार्यालय से उक्त दोनों फर्जी चेकों के बारे में कोई संपुष्टि ली गई। अवैध रूप से राशि जालसाज के महाराष्ट्र स्थित बैंक खाता में ट्रांसफर कर दी गई।

दो वर्ष पूर्व BRB काॅलेज के बैंक खाता से फर्जी तरीके से निकाले गये 27 लाख रुपये बैंक ने किया वापस समस्तीपुर Town

दो वर्ष पूर्व BRB काॅलेज के बैंक खाता से फर्जी तरीके से निकाले गये 27 लाख रुपये बैंक ने किया वापस समस्तीपुर Town

Advertise your business with samastipur town

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal