कनकनी : शाम होते ही घर में दुबक जा रहे लोग

समस्तीपुर:- दिनोंदिन बढ़ती ठंड से लोगों की दिनचर्या प्रभावित होने लगी है। हालांकि दिन में सूर्य की तेज धूप जहां लोगों को राहत देती है वहीं शाम होते ही कनकनी से लोग कांपने को विवश हो जाते हैं। स्टेशन चौक को छोड़ कर लगभग सभी जगहों की दुकानें शाम में आठ बजे से ही बंद होने लगती हैं। जिससे सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता है।

उधर, ग्रामीण इलाकों में तो लोग शाम ढलने के साथ ही घरों में दुबकने लगते हैं। छह बजे के बाद तो इक्के-दुक्के लोग ही सड़क पर चलते दिखाई देते हैं। शुक्रवार को सुबह से ही तेज गति से बहने वाली पछिया हवा लोगों को बर्फ के समान लग रहा था। सड़क पर तो इसका असर उतना नहीं पड़ रहा था, लेकिन जो लोग छत पर धूप सेवन करने गये उन्हें बर्फीली हवा के ठंडे झोंके के कारण जल्द ही नीचे उतरने को विवश होना पड़ा।

सुबह में सड़क पर कम दिखते हैं लोग :

सुबह में कनकनी और ठंड के कारण शहर की सड़कों पर कम लोग दिखते हैं। सामान्य दिनों में टहलने के लिए या चाय की दुकान पर चाय चुस्की लेने के लिए जो लोग पहुंचते थे उनकी संख्या में कमी आ गयी है।

सुबह में सड़क पर वहीं लोग नजर आते हैं जिन्हें अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए बस पकड़वाना होता है या फिर जरूरी काम से कहीं जाना होाता है। मॉर्निंग वाक करने वाले अधिकांश लोग भी सुबह बाहर निकलने के बजाय रजाई और कंबल के नीचे दुबके रहना ही पसंद करते हैं।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.