PM मोदी ने सुनाई बचपन की कहानी- मेरे पिता का दोस्त था अलीगढ़ का मुस्लिम कारोबारी, उनके पास जमा पूंजी रख जाता था

प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में मंगलवार को राजा महेन्‍द्र प्रताप सिंह विश्‍वविद्यालय और डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्‍यास किया। माना जा रहा है कि पीएम मोदी के इस दौरे से यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी को फायदा हो सकता है। नफा या नुकसान चुनाव के परिणामों में ही पता लगेगा लेकिन पीएम मोदी ने इस दौरान अपने बचपन की एक कहानी सुनाई जिसका संबंध अलीगढ़ से था। पीएम मोदी ने बताया कैसे एक मुस्लिम कारोबारी की उनके पिता से दोस्ती थी और वह कारोबारी अलीगढ़ का ही था।

पीएम मोदी ने कहा, ‘एक मुस्लिम शख्स थे, जो हर साल तीन महीने के लिए हमारे गांव में आते थे। वे हमारे क्षेत्र में ताले बेचने आते थे। मेरे पिता से उनकी अच्छी दोस्ती थी। वह दिन भर जो पैसे वसूलकर लाते थे, उसे पिता को सौंप देते थे। इसके बाद जब वह गांव से जाते थे तो पिता जी से सारे पैसे लेकर लौट जाते थे। हम बचपन से ही यूपी के दो शहरों से बहुत परिचित रहे हैं। आंख में कोई बीमारी होती थी तो सीतापुर जाने की बात होती थी। इसके अलावा मुस्लिम शख्स के जरिए अलीगढ़ का नाम सुनते थे। पर अब तालों के अलावा अब हम हथियारों के लिए भी इस शहर को जानेंगे। अब तालों से घर की रक्षा होती थी और हथियारों से देश की सीमाओं की रक्षा होगी।’

‘कल्याण सिंह होते तो खुश होते’

पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम दिवंगत कल्याण सिंह को भी याद किया। उन्होंने शिलान्यास के दौरान कहा, ‘आज मैं कल्याण सिंह जी की अनुपस्थिति महसूस कर रहा हूं। आज यदि वह हमारे साथ होते तो राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी के शिलान्यास और अलीगढ़ की डिफेंस सेक्टर में बन रही नई पहचान को देखकर खुश होते। लेकिन उनकी आत्मा जहां भी होगी, वहां हमें आशीर्वाद दे रही होगी। ब्रज भूमि के तो कण-कण में राधा-राधा लिखा है।’

पीएम मोदी ने कहा कि आज मुझे एक और स्वतंत्रता सेनानी और भारत के सपूत श्याजी कृष्ण वर्मा का स्मरण होता है। पहले विश्व युद्ध के समय राजा महेंद्र प्रताप सिंह उनसे और लाला हरदयाल से मिलने यूरोप गए थे। उन्होंने एएमयू के सपने को साकार करने के लिए अपनी जमीन दान दे दी थी।

इस सपने को साकार करने के लिए योगी जी और उनकी टीम को बधाई। यह यूनिवर्सिटी आधुनिक शिक्षा का एक केंद्र तो बनेगा ही। इसके अलावा देश में डिफेंस से जुड़ी पढ़ाई और टेक्नोलॉजी तैयार करने के लिए मैनपावर बनाने वाला सेंटर भी बनेगा।

 

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal