Surf Excel के इस होली ऐड पर मचा है बवाल, सोशल मीडिया पर क्यों हो रहा बायकॉट

होली आने में अब कुछ ही दिन बाकी हैं. ऐसे में बाज़ार भी होली को लेकर पूरी तरह तैयार हैं. बाज़ारों में रंग, पिचकारी मिलनी शुरू हो चुकी है तो वहीं टीवी पर भी होली से जुड़े विज्ञापन आने शुरू हो गए हैं. ऐसे ही होली से जुड़े सर्फ एक्सल के एक विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर बवाल मचा हुआ है. भाईचारे का संदेश देने की कोशिश कर रहे इस विज्ञापन का प्रभाव जनता पर उल्टा पड़ता दिख रहा है. इस विज्ञापन में एक हिंदू बच्ची और मुस्लिम बच्चे को लेकर छोटी सी कहानी दिखाई गई है. इसका सोशल मीडिया पर एक तबका विरोध कर रहा है. विरोध भी इस स्तर का है कि लोग #bycottSurfExcel हैशटैग के साथ ट्वीट कर रहे हैं.

दरअसल सर्फ एक्सल ने ‘रंग लाए संग’ कैंपेन के जरिए होली पर हिंदू-मुस्लिम सद्भाव का संदेश देने की कोशिश की थी. करीब एक मिनट के इस ऐड में दिखाया गया है कि सफेद टी-शर्ट पहने एक हिंदू लड़की पूरी गली में साइकिल लेकर घूमती है और बालकनी और छतों से रंग फेंक रहे सभी बच्चों के रंग अपने ऊपर डलवाकर खत्म करा देती है.

रंग खत्म हो जाने के बाद वह अपने मुस्लिम दोस्त के घर के बाहर जाकर कहती है कि ‘बाहर आजा सब खत्म हो गया.’ बच्चा घर से सफेद कुर्ता-पजामा और टोपी पहने निकलता है. बच्ची उसे साइकिल पर बैठाकर मस्जिद के दरवाजे पर छोड़ती है. आखिरी में उसके सीढ़ी चढ़ते वक्त बच्चा कहता है नमाज़ पढ़ के आता हूं. वह कहती है, बाद में रंग पड़ेगा. इस पर उसका मुस्लिम दोस्त धीमे से मुस्कुरा देता है. विज्ञापन अंत में कहा जाता है ‘अपनेपन के रंग से औरों को रंगने में दाग लग जाएं तो दाग अच्छे हैं.’ बता दें सर्फ एक्सल की परंपरागत टैगलाइन ‘दाग अच्छे हैं’ है. सर्फ एक्सल के इस विज्ञापन के ज़रिए हिंदुस्तान यूनीलीवर ने ये संदेश देने कि कोशिश की थी कि रंगों के जरिए समाज साथ आ सकता है.

27 फरवरी को रिलीज़ किए गए इस ऐड को यूट्यूब पर अब तक 8,109,648 व्यूज मिल चुके हैं. हालांकि ट्विटर पर कुछ लोग इसे हिंदू फोबिक और विवादित करार दे रहे हैं. इसी को लेकर सर्फ एक्सल को बायकॉट करने की भी बात की जा रही है.

इसी को लेकर पतंजलि आयुर्वेद के प्रमुख और योग गुरु बाबा रामदेव ने भी सर्फ एक्सल की धुलाई करने की बात कही है. रामदेव ने ट्वीट किया है, ‘हम किसी भी मजहब के विरोध में नहीं हैं, लेकिन जो चल रहा है उस पर गंभीरता से सोचने की जरूरत है. लगता है जिस विदेशी सर्फ से हम कपड़ों की धुलाई करते हैं अब उसकी धुलाई के दिन आ गए हैं?’

इसी तरह कई लोगों ने ट्वीट कर सर्फ एक्सल को बॉयकाट करने की बात कही है.

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *