समस्तीपुर के मतदाता चुनाव एक्सप्रेस में सवार होकर करेंगे वोटिंग, जानिए इसकी विशेषताएं

समस्तीपुर/विभूतिपुर [विनय भूषण] :- विभूतिपुर प्रखंड के राजकीयकृत मध्य विद्यालय राघोपुर में तीन नवंबर को मतदाता वोट डालने पहुंचेंगे तो उन्हें अलग तरह का एहसास होगा। यहां ‘चुनाव एक्सप्रेस’ में सवार होकर लोग मतदान करेंगे। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है।

विभूतिपुर प्रखंड स्थित इस स्कूल के हर कमरे को यहां के शिक्षक नबो कुमार चौधरी और बैद्यनाथ सहनी ने अपनी सोच से पेंटिंग कराकर रेलगाड़ी की बोगी का रूप दिया है। विद्यालय परिवार ने इसे ‘शिक्षा रथ एक्सप्रेस’ नाम दिया है। मतदाता इसी के अंदर जाकर वोट डालेंगे।

25 अगस्त से इसकी साज-सज्जा का कार्य प्रारंभ :

कोरोना काल में स्कूल बंद होने के चलते 25 अगस्त से इसकी साज-सज्जा का कार्य प्रारंभ हुआ। विद्यालय के कुल 22 कमरे बोगियों की तरह पेंट किए गए हैं। जिस प्रकार ट्रेन में बोगी नंबर होता है। ठीक उसी प्रकार यहां वर्ग कक्ष का नंबर आर/1, आर/2, आर/3 सहित अन्य नाम है। चुनाव से पहले फर्नीचर, साफ-सफाई आदि का कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस शौचालय निर्माणाधीन है। इस विद्यालय की स्थापना 1920 में पहली से तीसरी कक्षा तक के लिए हुई थी। वर्ष 2008 में 8वीं कक्षा तक पढ़ाई के लिए सरकार ने स्वीकृति दी थी।

महापुरुषों के नाम पर वर्ग कक्ष :

वर्ग कक्ष का नामकरण महापुरुषों के नाम पर किया गया है। छात्रों के वर्ग कक्ष का नाम स्वामी विवेकानंद सदन, डॉ. राजेंद्र प्रसाद सदन, सुभाषचंद्र बोस सदन, भगत सिंह सदन और छात्राओं के वर्ग कक्ष को लक्ष्मीबाई सदन, कल्पना चावला सदन, इंदिरा गांधी सदन आदि नाम दिए गए हैं। एक संकुल एक्सप्रेस भी है, जिसमें कार्यालय और कक्ष है। विद्यालय की दीवारों पर पेंटिंग, स्लोगन, मौलिक अधिकार, मूल कर्तव्य आदि आकर्षण का केंद्र हैं।

एचएम प्रमिला देवी कहती हैं कि विद्यालय परिसर को चाइल्ड फ्रेंडली बनाने के उद्देश्य से यह काम कराया गया है। पेंटिंग पर साढ़े तीन लाख रुपये खर्च हुए हैं। स्कूल खुलने पर बच्चे इस एक्सप्रेस में सवार होकर पढ़ाई करेंगे।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal