समस्तीपुर जिले के 12 थानों में महिला हेल्प डेस्क की होगी स्थापना

समस्तीपुर :- महिलाओं और बच्चियों के साथ होने वाले अपराध की त्वरित सुनवाई होगी। इसके लिए जिले के 12 थानों में महिला हेल्प डेस्क बनेगा। थानों की सूची बनाई जा रही। इनमें उन थानों को प्राथमिकता दी जाएगी, जहां महिलाओं और बच्चियों से जुड़े अपराध का ग्राफ ज्यादा है। पुलिस अवर निरीक्षक स्तर की महिला अधिकारी को डेस्क का प्रभारी बनाया जाएगा, जबकि सदर डीएसपी नोडल अधिकारी होंगे। वही डेस्क के काम की मॉनीटरिग और समन्वय करेंगे।

खुलकर बात कर सकेंगी महिलाएं और बच्चियां :

हेल्प डेस्क पर महिला अधिकारी की तैनाती होने से पीड़िताएं खुलकर बात कर सकेंगी। डेस्क स्थापित होने का उद्देश्य यही है कि थाने में शिकायत लेकर आनेवाली महिलाओं में किसी प्रकार की हिचक न हो और उनके मामलों का त्वरित संज्ञान लिया जाए। डेस्क से जुड़े सभी पुलिसकर्मियों को उचित प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

krishna hospital samastipur bihar ADVERTISEMENT

उन्हें बातचीत और व्यवहार कौशल की जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। डेस्क से वकीलों, विशेषज्ञों और स्वयंसेवी संस्थाओं को भी जोड़ा जाएगा। हेल्प डेस्क पर महिलाओं से संबंधित अपराध की शिकायत कोई भी कर सकता है। शिकायतकर्ता की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

पांच महिला सिपाही होंगी तैनात :

महिला डेस्क पर एक महिला पुलिस अवर निरीक्षक स्तर की महिला अधिकारी, तीन महिला पुलिस अवर निरीक्षक या महिला सहायक पुलिस अवर निरीक्षक स्तर की अधिकारी, पांच महिला सिपाही और दो महिला कंप्यूटर ऑपरेटर या पुरुष कंप्यूटर ऑपरेटर की प्रति नियुक्ति की जाएगी। इनके पास दो कंप्यूटर, दोपहिया वाहन, फोन व अन्य सुविधाएं होंगी।

महिलाओं और बच्चियों से संबंधित मामलों की त्वरित सुनवाई के लिए महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की प्रक्रिया की जा रही। महिलाओं से संबंधित अपराध की सभी थानों से सूची मांगी गई है। फिलहाल, जिले के सभी अनुमंडल थानों के साथ बड़े थानों को चयनित किया गया है। जिसके पास अपना भवन है।

विजय कुमार सिंह

डीएसपी, जिला मुख्यालय

Impulsa kota doctor engineer samastipur bihar

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal