वीरान रहीं समस्तीपुर शहर की सड़कें, बाजार में पसरा सन्नाटा

समस्तीपुर:- लॉकडाउन के तीसरे दिन बुधवार को बाजार में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। दुकानें पूरी तरह बंद रहीं। बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों जैसे भीड़-भाड़ वाले इलाकों में भी सन्नाटा पसरा रहा। सड़क पर वाहनों का आवागमन नगण्य दिखा। मेडिकल स्टोर, फल सब्जी, डेयरी और किराना की दुकानें छिटपुट खुली रहीं। जगह-जगह एटीएम खुले रहे लेकिन उस पर लोग न के बराबर दिखे।

आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी कार्यालय, शैक्षणिक संस्थान, अर्धसरकारी उपक्रम, स्वायत्तशासी संस्थाएं, दुकान, मॉल, वर्कशॉप, गोदाम बंद रहे। सार्वजनिक परिवहन, निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा आदि के परिचालन पर प्रतिबंध लगा हुआ है। सरकारी कार्यालय में भी बिना अनुमति लोगों का प्रवेश वर्जित है।

एहतियातन लोग अपने घरों में ही रहना पसंद कर रहे हैं। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन और प्रखंड स्तर के पदाधिकारी व कर्मी अपने- अपने स्तर से कार्य में लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी दिनरात सेवा में लगी हुई है। पुलिस कर्मी भी अलर्ट मोड पर हैं।

डीएसओ ने एसडीओ के साथ की छापेमारी

लॉकडाउन के बाद शहर में अनावश्यक गतिविधियों पर पूरी तरह प्रतिबंध लग गया है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जगह-जगह पुलिस बल तैनात हैं। सड़क पर गुजर रहे लोगों से पूछताछ की जा रही है। अनावश्यक दुकानों को बंद करा दिया गया है।

जिला आपूर्ति पदाधिकारी सोमनाथ सिंह, सदर अनुमंडल पदाधिकारी अशोक मंडल और सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार के नेतृत्व में बाजार समिति, गोलारोड, पेठियागाछी समेत कई जगहों पर छापेमारी की गई।

krishna hospital samastipur bihar ADVERTISEMENT

इस दौरान कई व्यापारियों के स्टॉक का वेरीफिकेशन किया गया। वहीं सभी व्यापारियों को हिदायत दी गई कि वे स्टॉक को मेंटेन करें। छापेमारी के दौरान बहुत सारे व्यापारियों के यहां स्टॉक प्रदर्शित नहीं किए गए थे।

उन्होंने जमाखोरी या मुनाफाखोरी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी। डीएसओ ने बताया कि माइकिग कराई जा रही है। सभी व्यापारियों से कहा जा रहा है कि वे प्रतिदिन का स्टॉक प्रदर्शित करें। जो ऐसा नहीं करेंगे, उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

संकट की इस घड़ी में पूरी ईमानदारी बरतने और आम लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो इसका ख्याल रखने को कहा है। वहीं नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद, मुफस्सिल थानाध्यक्ष विक्रम आचार्या भी पुलिस पदाधिकारियों एवं जवानों के साथ सड़क पर घूमकर आवाजाही कर रहे लोगों से पूछताछ की। वहीं बिना वजह घर से निकलने से मना किया।

माइकिग कराकर लोगों को किया जा रहा जागरूक

कोरोना वायरस एक वायरल संक्रमण है, जो संक्रमित व्यक्ति से सीधे या अप्रत्यक्ष तरीके से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति को भी संक्रमित कर सकता है। इस श्रृंखला को तोड़ने के लिए एक दूसरे व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें। स्वच्छता और सतर्कता बरतें। गरम पानी पीएं, हाथ साबुन से धोएं। एक जगह पर एकत्रित न हो।

धूप में रहने का प्रयास करें। लॉकडाउन का पालक करें। अगर, आपके मोहल्ले, टोले, गांव अथवा कस्बे में वैसा किसी भी व्यक्ति जो पिछले 15 दिनों में दूसरे राज्य से या विदेश से आए हों और उसमें कोरोना के लक्षण मौजूद हों या नहीं, उसकी सूचना जिला प्रशासन द्वारा बनाए नियंत्रण कक्ष को दें।

मुसरीघरारी में पुलिस ने दिखाई सख्ती

लॉकडाउन आदेश का अनुपालन कराने को लेकर मुसरीघरारी में बुधवार को पुलिस ने सख्ती दिखाई। बिना वजह आवागमन करने वाले बाइक सवारों पर लाठियां भी चटकाई। साथ ही बिना जरूरी के सड़क पर निकलकर आवाजाही करने वालों को सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी। सरायरंजन में भी पुलिस ने चाय-पान के अलावा अनावश्यक रूप से खुली दुकानों को बंद कराई।

बीडीओ गंगासागर सिंह, सीओ विजय कुमार तिवारी, कार्यक्रम पदाधिकारी संजय कुमार सिंह, सरायरंजन थानाध्यक्ष संजीव कुमार चौधरी, मुसरीघरारी थानाध्यक्ष विशाल कुमार सिंह आदि ने लोगों से अपने घरों में ही रहने की सलाह दी। वैनी ओपी क्षेत्र में भी ओपी अध्यक्ष नंद किशोर यादव के नेतृत्व में पुलिस ने सड़क पर आवाजाही करने वालों को सख्त हिदायत दी।

लॉक डाउन में पटोरी में दिखी क‌र्फ्यू जैसी स्थिति

कोरोना के खिलाफ पूरे भारत में लॉकडाउन का पूरा असर पटोरी में देखा गया। कुछ आवश्यक दुकानों को छोड़कर सभी बंद रहीं। सड़कों पर वाहन नहीं चले। पुलिस प्रशासन के सड़क पर आने के बाद पटोरी में क‌र्फ्यू जैसी स्थिति दिखाई दी। इस दौरान प्रशासन काफी चौकस रहा। एसडीओ मो. शफीक के नेतृत्व में काफी सतर्कता बरती गई थी। लॉकडाउन को पूर्णत: सफल बनाने का प्रयास किया गया।

इस दौरान एएसपी विजय कुमार, बीडीओ नवकंज कुमार, सीओ चंदन कुमार, थानाध्यक्ष मुकेश कुमार के अतिरिक्त विभिन्न विभाग के अधिकारियों को तैनात किया गया था। काफी संख्या में पुलिस बलों ने पेट्रोलिग की और आने जाने वाले लोगों को रोका। किराना दुकान भी काफी कम संख्या में खुली थी। सब्जी मंडियों में भी सन्नाटा पसरा रहा। चिकेन, मटन तथा मछली की दुकानें भी बंद रहीं। अस्पताल और आइसोलेशन सेंटर पर प्रशासन चौकस था।

मोहिउद्दीननगर में भी दिख रहा असर

कोरोना को लेकर लॉकडाउन का असर पूरी तरह दिख रहा है। सिर्फ बैंकिग सेवा, राशन, मेडिकल, सब्जी की दुकानें ही खुली रही। बाकी सभी बंद। लोगों की आवाजाही भी सड़क पर न के बराबर दिखी। लोग अपने को घरों में बंद कर रहे।

व्‍हाट्सएप पर पाएं कोरोना से जुड़े हर सवाल का जवाब

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *