समस्तीपुर जिला प्रशासन ने शहर के दो होटलों को बनाया आइसोलेशन वार्ड

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर जिला प्रशासन में शहर के दो होटलों को आइसोलेशन वार्ड बनाया है। वहीं अनुमंडल मुख्यालय पर भी एएनएम सेंटर को आइसोलेशन वार्ड के रूप में चिन्हित किया है…

समस्तीपुर:- कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर जिला प्रशासन में शहर के दो होटलों को आइसोलेशन वार्ड बनाया है। वहीं अनुमंडल मुख्यालय पर भी एएनएम सेंटर को आइसोलेशन वार्ड के रूप में चिन्हित किया है।

इसके अलावा सभी प्रखंडों में आइसोलेशन वार्ड के लिए स्कूलों को चिह्नित करने का निर्देश दिया गया है। जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष भी स्थापित की गई है, जो चौबीस घंटे काम करना शुरू कर दिया है। वहीं आमलोगों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है।

जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में संदिग्ध मरीजो को रखने के लिए जिला मुख्यालय में दो होटल को आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसमें होटल डबल ट्री एवं मथुरापुर स्थित जगदंबा पैलेस शामिल हैं।

अपर अनुमंडल पदाधिकारी राजीव कुमार को प्रभारी पदाधिकारी और जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. सतीश कुमार सिन्हा को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के रूप में नामित किया है। वहीं रोसड़ा, दलसिंहसराय एवं पटोरी में एएनएम संस्थान को आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है।

इसके लिए प्रभारी पदाधिकारी क्रमश डीसीएलआर शिवशंकर पासवान, अपर अनुमंडल पदाधिकारी अनिल कुमार एवं आनंद कुमार को प्रभारी नामित किया गया है। तीनों अनुमंडलों में वहां के उपाधीक्षकों को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी बनाया गया है।

अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी धर्मेश कुमार सिंह के नेतृत्व में क्वारंटाइन कोषांग गठित की गई है, जिसमें एसडीसी कुमार गौरव समेत अन्य को शामिल किया गया है। वहीं दूसरी ओर ट्रैकिग कोषांग गठित करते हुए डीसीएलआर उमेश भारती को इसका प्रभारी बनाया गया है।

इसमें आपदा प्रबंधन विभाग की डीपीओ सुप्रिया को शामिल किया गया है। जिला स्तर पर सदर अस्पताल में नियंत्रण कक्ष पूर्व से ही गठित है। इसके वरीय प्रभारी पदाधिकारी डीडीसी वरुण कुमार मिश्रा को बनाया गया है। इसके अलावा कोरोना कन्फर्म कोषांग गठित किया गया है। इसके वरीय प्रभारी पदाधिकारी राजीव रंजन कुमार सिन्हा को बनाया गया है।

जबकि प्रभारी पदाधिकारी दलसिंहसराय के अनुमंडलीय लोकशिकायत निवारण पदाधिकारी कुमार सत्येन्द्र को बनाया गया है। इस कोषांग की जिम्मेवारी होगी कि यदि किसी व्यक्ति की कोरोना से मौत होती है तो उस मृत व्यक्त के आवास को केन्द्र मानते हुए तीन किलोमीटर रेडियस में रहने वाले व्यक्तियों की जांच कराएंगे। लॉकडाउन इनफोर्समेंट कोषांग का गठन पुलिस अधीक्षक के द्वारा किया जाना है।

krishna hospital samastipur bihar ADVERTISEMENT

यह है हेल्पलाइन नंबर :

लोगों की सुविधा के लिए जिला प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। यह चौबीसों घंटे लगातार कार्यरता रहेगा। यह नंबर है- 06274-222331, 222334, 222335,222336, 222337, 222338

डीएम ने की अपील, बाहर से आनेवालों की दें सूचना :

जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकार, जिला प्रशासन एवं प्रखंड स्तर के पदाधिकारी तथा कर्मी अपने-अपने स्तर पर जुटे हुए हैं।

स्वास्थ्य विभाग की टीम दिन-रात सेवा में लगी हुई है। जिला प्रशासन के द्वारा किए जा रहे प्रयासों में आप लोगों की सहभागिता भी मिले तो हम सभी कोरोना से बेहतर ढंग से लड़ सकेंगे। इसलिए सभी जिलावासियों से अपील है कि आपके मुहल्ले, टोले, गांव अथवा कस्बे में वैसा कोई भी व्यक्ति जो पिछले 15 दिनों में दूसरे राज्यों से या विदेश से आया हो, तो (उनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण मौजूद हो या नहीं) तुरंत इसकी सूचना जिला स्तर पर बनाए गए नियंत्रण कक्ष को दें या अपने जन प्रतिनिधियों को दें।

जिला प्रशासन जन प्रतिनिधियों से लगातार संपर्क में है। ऐसा करने से जिला में कोरोना संक्रमण के श्रृंखला को ससमय रोका जा सकता है। डीएम ने लोगों से अपील की है कि लॉक डाउन का पालन करें और सोशल डिस्टेंस बनाए रखें।

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *