समस्तीपुर रेलमंडल के 12 स्टेशनों पर टिकट बनाने वाले एक भी कर्मी नहीं

समस्तीपुर:- भगवानपुर देसूआ समेत मंडल के दर्जनभर स्टेशनों पर स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट नहीं मिल रहे हैं। जिससे टिकट के लिए यात्रियों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। अक्सर यात्री बिना टिकट के ही ट्रेन पर सवार हो जाते हैं। जिससे रेलवे को भी राजस्व की हानि हो रही है। वहीं यात्रियों के बेटिकट पकड़े जाने का भय सताता रहता है।

समस्तीपुर-खगड़िया रेल खंड के भगवानपुर देसूआ, अंगारघाट के अलावा तारसराय, जूब्बासहनी, पीपड़ा, कांटी, ककरघट्‌टी आदि स्टेशनों पर एसटीबीए नहीं हैं। इन स्टेशनों पर दैनिक यात्रियों की संख्या अधिक है। जिस कारण उन्हें परेशानी हो रही है।

सीनियर डीसीएम सह मीडिया प्रभारी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि पूर्व में उक्त स्टेशनों पर एसटीबीए बहाल किए गए थे। लेकिन उन्हें बेहतर विकल्प मिल जाने के कारण कार्य छोड़ कर चले गए। उक्त स्टेशनों पर अगली व्यवस्था तक ऑन ड्यूटी एएसएम को टिकट काटने को कहा गया है।

अगली व्यवस्था तक एएसएम को टिकट काटने का निर्देश 

रेलवे की कमी का सजा भुगतते हैं यात्री बेटिकट पकड़े जाने पर लगता है जुर्माना

एएसएम के ट्रेन परिचालन में व्यस्त रहने के कारण यात्री बिना टिकट के यात्रा करते हैं। लेकिन बेटिकट पकड़े जाते हैं तो उन्हें जुर्माना देना होता है। समस्तीपुर-खगड़िया रेल खंड के यात्री इसके ज्यादा शिकार होते हैं। भगवानपुर देसूआ, अंगार में एजेंट नहीं है। उक्त स्टेशन से यात्रा करने वाले यात्री समस्तीपुर में अक्सर चेकिंग के दौरान पकड़े जाते हैं।

ट्रेन आने से कुछ देर पहले खुलता है टिकट काउंटर

बताया गया है कि जिन-जिन स्टेशनों पर स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट नहीं हैं। वहां ऑन ड्यूटी एएसएम को टिकट काटने को कहा गया है। एएसएम के पास टिकट काटने के अलावा ट्रेनों के परिचालन व प्रशासनिक कार्य भी होता है। जिस कारण हमेशा टिकट काउंटर खुला नहीं रहता है।

ट्रेन के आने के कुछ देर पहले टिकट काउंटर खुलता है। जब ट्रेन प्लेटफार्म पर आ जाती है तो उस समय टिकट कटाने वालों की अधिक भीड़ रहती है। लेकिन उसी वक्त एएसएम चालक व गार्ड को झंडी दिखाने के लिए काउंटर छोड़ बाहर निकल जाते हैं।

Input: Danik Bhaskar

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *