देश में एक बार फिर से ट्रेन हादसा, पटरी से उतरी लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस, 40 यात्री घायल

कटक के नरगुंडी रेलवे स्टेशन के पास मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस पटरी से उतर गई है. ट्रेन के पटरी से उतरने की वजह घना कोहरा बताया जा रहा है. सूचना पाकर मौके पर पहुंची टीम ने राहत-बचाव का काम शुरू कर दिया है.

इस घटना में किसी की मौत की सूचना नहीं है. हालांकि 40 यात्री घायल हैं जिनमें 6 की हालत गंभीर है. हादसे की सूचना मिलते ही रेलवे एक्सीडेंट मेडिकल वैन घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है. कुछ देर में उसके पहुंचने की संभावना है. हादसे के पीछे भीषण कोहरा कारण बताया जा रहा है. मौके पर लगी राहत टीम ने घायलों को नजदीकी अस्पताल में पहुंचाया है. सुबह-सुबह सलगांव और नेरगुंडी स्टेशन के बीच यह घटना सामने आई.

सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. अधिकारियों के मुताबिक ट्रेन हादसे में 8 कोचों को नुकसान पहुंचा है. पांच कोच पटरी से उतर गई हैं जबकि 3 कोच ट्रैक से हल्की नीचे लुढ़क गई हैं. इस घटना में किसी मौत की सूचना नहीं है.

ये हैं हेल्पलाइन नंबर

रेलवे ने यात्रियों के परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया है. कटक का हेल्पलाइन फोन नंबर है-0671-1072 जबकि खुर्दा रोड का नंबर 0674-1072 है. बीबीएस/हेडक्वार्टर्स ऑफिस का नंबर है-18003457401/402 और बीबीएस स्टेशन का नंबर 0674-1072 है. पुरी का हेल्पलाइन नंबर 06752-1072 जारी किया गया है.

हादसे की वजह

कटक के पास नरगुंडी रेलवे स्टेशन पर सुबह-सुबह मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक ने एक मालगाड़ी में टक्कर मार दी. घना कोहरा था और पीछे एक मालगाड़ी आ रही थी. इसी दौरान सुबह सात बजे मालगाड़ी का गार्ड वाला डब्बा खड़ी हुई ट्रेन से टकरा गई, इसी वजह से मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के डब्बे पटरी से उतर गए.

कोहरे का कहर जारी

पूरे उत्तर भारत में कोहरे का कहर जारी है. इस कारण दृश्यता काफी घट गई है. रेल और हवाई यातायात पर इसका काफी असर देखा जा रहा है. कटक का ट्रेन हादसा भी कोहरे की वजह से बताया जा रहा है. बता दें, भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने 16 जनवरी को अलग-अलग कारणों से कई ट्रेनें कैंसिल की हैं. इनमें ज्यादातर गाड़ियों को गुरुवार के लिए पूरी तरह रद्द किया गया है, जबकि कुछ गांड़ियों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है. इसके अलावा कुछ ट्रेनों के रूट भी डायवर्ट किए गए हैं. जिन गाड़ियों को कैंसिल किया गया है, उनमें एक्सप्रेस, पैसेंजर और सुपर फास्ट ट्रेनों के साथ कुछ स्पेशल गाड़ियां भी हैं.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *