पुलिस जवान का शव पहुंचते ही गांव गमगीन, शराब तस्कर को पकड़ने के क्रम में आ गए थे ट्रेन की चपेट में

समस्तीपुर/हसनपुर:- हसनपुर थाना क्षेत्र के परोरिया गांव के महावीर ठाकुर के 30 वर्षीय पुत्र एवं सिवान में पदस्थापित जीआरपी जवान राजेश कुमार ठाकुर का शव गुरुवार को गांव में पहुंचते ही लोगों की आंखें नम हो गई। गांव के लोग शोक में डूबे हुए हैं। घटना की सूचना मिलते ही किसी के घर में भी चूल्हे नहीं जले। स्वजनों के अनुसार, राजेश ठाकुर सिवान जिले के जीरादेई रेलवे स्टेशन पर कांस्टेबल के पद पर पदस्थापित थे।

बुधवार की सुबह में शराब तस्कर को पकड़ने के क्रम में ट्रेन की चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। सिवान जीआरपी ने शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद पैतृक गांव पड़ोरिया लाया। राजेश को पांच वर्ष की एक पुत्री एवं तीन वर्ष का एक पुत्र है।

इधर, उसका शव गांव में पहुंचते ही समस्तीपुर की रेल डीएसपी स्मिता सुमन दलबल के साथ पहुंचीं। पीड़ित परिवार को सांत्वना देने के पश्चात सिघिया थाना क्षेत्र के कोल्हुआघाट नदी किनारे श्मसान घाट पहुंचकर दाह संस्कार से पूर्व राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

मौके पर समस्तीपुर जीआरपी थानाध्यक्ष रंजीत कुमार, हसनपुर जीआरपी थानाध्यक्ष संतोष कुमार के अलावा कई पुलिस बल शामिल थे। डीएसपी ने इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि मृत कांस्टेबल की पत्नी को अनुकंपा के आधार पर सरकारी नौकरी दिलाने की कार्रवाई की जाएगी।

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *