खुशी के नाम पर हवा में दागी जानेवाली गोलियां बेकसूरों की मौत की वजह बन रही

समस्तीपुर:- शादी समारोह हो या बच्चे का नामकरण संस्कार या फिर खुशी का कोई मौका, यहां हर्ष फायरिग से इंसान का कद नापा जाता है। इस दौरान लाइसेंसी के अलावा अवैध हथियारों का भी खूब प्रदर्शन होता है। इन मौकों पर जब तक पांच-दस राउंड फायरिग नहीं हो जाती, तब तक खुशी का इजहार नहीं होता। जान माल की रक्षा के लिए मिलने वाले लाइसेंस हथियार का लोग खूब दुरुपयोग कर रहे। लेकिन, खुशी के नाम पर हवा में दागी जानेवाली गोलियां बेकसूरों की मौत की वजह बन रही हैं।

रूतबा दिखाने का है भ्रम

शादियों में फायरिग करना अब स्टेटस सिबल बना गया है। शान-शौकत और दिखावे के लिए फायरिग की जाती है। इससे हर साल दो-तीन बेकसूरों की मौत हो जाती है या गोली लगने से घायल होकर अपाहिज हो जाते हैं।

इसका मुख्य कारण लाइसेंसी हथियार की संख्या अधिक है। अवैध हथियारों का भी खुलेआम प्रदर्शन होता है। दो दिन पूर्व ही रेलवे अधिकारी क्लब में एक शादी समारोह के दौरान हर्ष फायरिग में एक कैमरामैन की मौत हो गई थी।

दबाए जा रहे मामले

हर्ष फायरिग में गोली लगने से मौत और घायल होने के मामलों में पुलिस को भी आम जनता से ज्यादा सहयोग नहीं मिल पाता है, क्योंकि इस तरह की वारदात शादी समारोह में आनेवाले रिश्तेदार ही करते हैं। अधिकतर मामलों में फायरिग करनेवाला और घायल होनेवाला आपस में रिश्तेदार होते हैं। फायरिग खुशी में करने की मानकर इस मामलों को पुलिस के पास ले जाने से बचते हैं। इसके कारण हर्ष फायरिग करने वाले बचकर निकल जाते हैं। शादी समारोह या किसी खास उत्सव में हर्ष फायरिग या हथियार के प्रदर्शन पर दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

विकास वर्मन, पुलिस अधीक्षक

ADVERTISEMENT

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *