केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर फेंकी गई स्याही, PMCH में डेंगू पीड़ितों से कर रहे थे मुलाकात

पीएमसीएच में डेंगू पीडितों को देखने पहुंचे केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे पर स्याही फेंके जाने का मामला सामने आया है। केन्द्रीय मंत्री मंगलवार को डेंगू पीड़ितों से मुलाकात करने पीएमसीएच गए थे। इस घटना के बाद अस्पताल परिसर में अफरा-तफरी मच गयी। स्याही फेंकने वाला युवक फरार हो गया। जब इस मामले में केन्द्रीय मंत्री अश्चिनी चौबे से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि स्याही पूरे मीडिया पर फेंका गया जिसके छींटे मुझपर भी आकर गिरे।

लगातार बढ रहे हैं डेंगू के मरीज 

डेंगू के मरीजों की संख्या में कमी नहीं हो रही है। हर दिन की तरह सोमवार को भी पटना मेडिकल कॉलेज में सौ से अधिक डेंगू के मरीज पाए गए हैं। अस्पतालों में बढ़ी भीड़ से पूरी व्यवस्था लड़खड़ा गई है। एक बेड पर दो मरीजों का इलाज तो आम बात है अब फर्श पर भी जगह नहीं मिल पा रही है।

डॉक्टर के साथ स्वास्थ्य कर्मी परेशान

पटना मेडिकल कॉलेज में डेंगू के पांच वार्ड मरीजों से भरे पड़े हैं। अधिकतर बेड पर दो मरीजों के साथ फर्श पर भी मरीजों का इलाज हो रहा है। मरीजों की भीड़ ऐसी है कि डॉक्टर और अन्य कर्मचारी भी घबरा गए हैं। सुबह से लेकर रात तक मरीज आते रह रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि अन्य अस्पतालों की तरह पटना मेडिकल कॉलेज से कभी भी मरीज वापस नहीं किए जाते हैं। वह जब भी आए बेड खाली हो या नहीं उनका इलाज किया जाता है। इस कारण से भीड़ तो बढ़ती है लेकिन किसी को वापस नहीं जाने दिया जाता है।

सितंबर से फुल चल रहे हैं वार्ड 

पटना मेडिकल कॉलेज में सितंबर माह से डेंगू का वार्ड फुल चल रहा है। सोमवार को भी वार्ड फुल रहा और मरीजों के आने का सिलसिला जारी रहा। पांच वार्ड के चालीस बेडों में कोई भी बेड खाली नहीं था और इमरजेंसी से लेकर अन्य जगह भी बुखार से पीड़ित मरीज भरे पड़े थी। पटना मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर व डेंगू के प्रभारी लगातर मरीजों पर नजर बनाए रहे, लेकिन इसके बाद भी इलाज में मनमानी की बाधा दूर नहीं हुई।

  • 294 बुखार पीड़ित मरीजों की पटना मेडिकल कॉलेज में सोमवार को जांच हुई
  • 116 मरीजों में डेंगू की बीमारी के लक्षण पाए गए, जो पटना के रहने वाले हैं
  • 112 मरीजों में डेंगू पाया गया जो अन्य जिलों के निवासी हैं, पीएमसीएच में करा रहे इलाज
  • 1311 डेंगू के मरीज अब तक इस साल मिल चुके हैं, जोकि पिछले वर्ष से ज्यादा हैं
  • 226 मरीजों के खून का नमूना सोमवार को लिया गया, जांच रिपोर्ट आज मिलेगी

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *