महज 20 घंटों में लुटेरों के गिरेबान तक पहुंची रोसड़ा पुलिस

समस्तीपुर/रोसड़ा:- गुरुवार की रात रोसड़ा के एक मोबाइल दुकानदार को जख्मी कर पिस्तौल के बल पर लाखों की मोबाइल लूट मामले का पुलिस ने महज 20 घंटे में उद्भेदन कर बड़ी सफलता हासिल की है। लूट के 13 मोबाइल के साथ दो लुटेरों को थाना क्षेत्र के उदयपुर से पुलिस ने दूसरे ही दिन शुक्रवार को दबोच लिया। गिरफ्तार अपराधी में उदयपुर के ही रब्बान अंसारी का पुत्र इमरान अंसारी उर्फ चंचल तथा मोतिउर रहमान का पुत्र मोहम्मद महफूज शामिल है।

दोनों के पास से कुल 13 मोबाइल के अलावा उसके द्वारा प्रयुक्त मोबाइल और लूटा गया झोला भी बरामद कर लिया गया है। इसकी विस्तृत जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक विकास बर्मन ने अपराधियों के हुलिया व गुप्तचर द्वारा दी गई सूचना पर यह सफलता मिलने की बात कही है। उन्होंने बताया कि जल्द ही अन्य लुटेरों की गिरफ्तारी निश्चित है।

रोसड़ा स्थित ज्योति मोबाइल सेंटर के मालिक के साथ दुकान बंद कर घर लौटने के दौरान जख्मी कर गोविदपुर के निकट अपराधियों द्वारा 43 मोबाइल एवं 18 हजार नकद लूट की घटना की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज करने के पश्चात ही अपराधियों की शिनाख्त हो चुकी थी। गिरफ्तारी व बरामदगी के लिए अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शहरयार अख्तर की अगुवाई में विशेष टीम का गठन किया गया।

जिसमें रोसड़ा थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर अमित कुमार, पुअनि हारून रशीद, राज किशोर सिंह एवं चंद्रशेखर सिंह को सम्मिलित किया गया था। गठित टीम द्वारा महज 24 घंटे के अंदर ही कांड में संलिप्त दो अपराधकर्मियों को पकड़ने के साथ समेत लूटे गए मोबाइल में से 13 मोबाइल बरामद करते हुए कांड के उद्भेदन का दावा किया है। एसपी ने इसे रोसड़ा पुलिस की बड़ी सफलता बताते हुए टीम में शामिल सभी पदाधिकारियों का उत्साहव‌र्द्धन किया। साथ ही अविलंब अन्य अपराधियों को गिरफ्तार करने का टास्क भी दिया है। मौके पर रोसड़ा एसडीपीओ व थानाध्यक्ष अलावा डीआईओ प्रभारी संजय कुमार भी मौजूद थे।

पिस्टल के बल पर लूट के दौरान व्यवसायी को किया था जख्मी

बताते चलें कि गुरुवार की रात अन्य दिनों की भांति शहर के ब्लॉक रोड स्थित अपनी मोबाइल दुकान बंद कर भाई सुशील व साला विकास के साथ घर लौट रहे अरुण कुमार को दो बाइक पर सवार अपराधियों ने अपने गांव से महज 300 मीटर पहले पिस्टल के बल पर घेर लिया। बाइक रुकते ही तीनों को अपराधियों ने अपने कब्जे में लेकर मोबाइल से भरा दोनों बैग छीन लिया।

विरोध जताने पर एक अपराधी के इशारे पर दूसरे ने अरुण के गले पर छुरा चला दिया। जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया। पिस्टल की बट से मारपीट करने के पश्चात सभी अपराधी फायरिग करते हुए पूरब की ओर भागे थे। घटना के बाद से ही पुलिस द्वारा बरती गई सक्रियता के कारण ही 24 घंटे के अंदर मामले का उद्भेदन और मोबाइल बरामदगी संभव हो सकी। दूसरी ओर जख्मी व्यवसायी का इलाज बेगूसराय में जारी है।

Related posts

Leave a Comment