पंचतत्व में विलीन हुए समस्तीपुर के सांसद रामचंद्र पासवान, राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

समस्तीपुर/पटना:- लोजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई रामचंद्र पासवान पंचतत्व में विलीन हो गए। दीघा घाट पर राजकीय सम्मान के साथ पासवान का अंतिम संस्कार किया गया। बड़े बेटे कृष्णराज पासवान ने दी मुखाग्नि दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे समेत कई नेता पासवान की अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

इससे पहले विमान से रामचंद्र पासवान का पार्थिव शरीर पटना लाया गया। एयरपोर्ट से पार्थिव शरीर लोजपा दफ्तर ले जाया गया जहां भारी संख्या में लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी लोजपा दफ्तर में रामचंद्र को श्रद्धांजलि दी।

12 जुलाई को पड़ा था दिल का दौरा

रविवार दोपहर करीब डेढ़ बजे दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में रामचंद्र पासवान ने अंतिम सांस ली। 12 जुलाई को दिल का दौरा पड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 10 दिनों से वे वेंटिलेटर पर थे। प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राबड़ी देवी समेत कई नेताओं ने पासवान के निधन पर शोक जताया।

1999 में पहली बार संसद पहुंचे थे रामचंद्र

रामचंद्र पासवान 1999 में पहली बार जदयू के टिकट पर संसद पहुंचे थे। 2004 में लोक जनशक्ति पार्टी के टिकट पर दूसरी बार चुनावी मैदान में उतरे और जदयू के दशाई चौधरी को पटखनी दी। 2009 में जदयू के महेश्वर चौधरी से चुनाव हार गए। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में मोदी लहर का फायदा रामचंद्र पासवान को भी मिला और वे राजद के अशोक कुमार को हराकर तीसरी बार संसद पहुंचे। हाल ही में संपन्न हुए 17वें लोकसभा चुनाव में रामविलास ने छोटे भाई को टिकट दिया और वे जीतकर चौथी बार दिल्ली पहुंचे।

Related posts

Leave a Comment