जानिए कौन है पीली साड़ी वाली महिला पोलिंग अफसर, जिसे ढूंढ रही पूरी दुनिया…, क्लिक कर जानें

लोकतंत्र का माहपर्व लोकसभा चुनाव-2019 पूरे शबाब पर है। नेताओं की बयानबाजी, बदमिजाजी पूरा देश देख और सुन रहा है। लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर एक पीली साड़ी वाली महिला रिटर्निंग अफसर की चर्चा भी जोरशोर से हो रही है। फेसबुक पर इस महिला पोलिंग अफसर की एकसाथ कई तस्‍वीरें वायरल हुईं और दावा किया गया कि इनका नाम नलिनी सिंह है। जबकि यह सच नहीं है।

फेसबुक पर इन तस्‍वीरों को शेयर करते हुए बताया गया कि नलिनी सिंह नाम की यह महिला ‘मिसेज जयपुर’ भी रह चुकी हैं। यह भी जानकारी दी गई कि चुनाव में इनकी तैनाती ईएसआई के निकट कुमावत स्‍कूल में थी। और तो और यह भी कहा गया कि इनके पोलिंग बूथ पर 100 फीसदी मतदान हुआ।

देखते ही देखते वायरल हो गईं तस्‍वीरें

महिला अध‍िकारी की इन तस्‍वीरों को हजारों लोगों ने शेयर करना शुरू कर दिया। फेसबुक के बाद मामला वॉट्सऐप पर भी पहुंच गया। लेकिन जब इस फोटो की पड़ताल की गई तो सच कुछ और ही निकला। यही नहीं, महिला का असली नाम भी नलिनी सिंह नहीं है।

जयपुर नहीं लखनऊ की हैं तस्‍वीरें, रीना है नाम

पहली बात यह तस्‍वीर जयपुर की नहीं है। यह तस्‍वीर लखनऊ में ली गई है और फोटो जर्नलिस्‍ट शुभम बंसल ने महिला अध‍िकारी यह तस्‍वीरें खींची हैं। ईवीएम ले जा रही यह महिला अध‍िकारी लखनऊ के पीडब्‍लूडी विभाग में कनिष्‍ठ सहायक के पद पर कार्यरत है और इनका असली नाम रीना द्व‍िवेदी है।

चुनाव से एक दिन पहले ही है तस्‍वीर

वायरल हो रही यह तस्‍वीर 5 मई 2019 यानी चुनाव से एक दिन पहले की है। उस दिन रीना द्व‍िवेदी लखनऊ के नगराम में बूथ नंबर 173 पर थीं, वह चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने पहुंची थीं। रीना बताती हैं, ‘हम तो अपनी ड्यूटी कर रहे थे। हमारा नाम नॉमिनेट हुआ था मतदना करवाने के लिए। हम जब अपनी टीम के साथ ईवीएम के साथ लौट रहे थे, तभी किसी पत्रकार ने हमारी तस्‍वीरें लीं। काफी वायरल कर दिया गया है इसे। अब तो रास्‍ते चलते हुए भी लोग मेरे साथ सेल्‍फी ले रहे हैं।’

 

पोलिंग बूथ पर 70 फीसदी वोटिंग हुई

रीना बताती हैं कि उनकी तस्‍वीर के साथ कुछ पॉजिटिव तो कुछ नेगेटिव बातें फैलाई जा रही हैं। रीना ने इस बात की भी पुष्‍ट‍ि की है कि उनके मतदान केंद्र पर 70 फीसदी मतदान हुआ। यानी वायरल हो रही तस्‍वीरों के साथ जो 100 फीसदी मतदान की बात की जा रही है, वह गलत है।

सबसे पहले अखबार में छपी थी फोटो

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *