खुद को थप्पड़ मारते दिखा बुजुर्ग, बोला- ‘या तो मेरी बेटियों को वापस ला दो या मुझे गोली मार दो’

पाकिस्तान में होली वाले दिन दो हिंदू नाबालिग बहनों का हथियारों के दम पर अपहरण कर लिया गया था। इसके बाद उनका धर्मांतरण करते हुए उनका निकाह करा दिया गया। इस मामले में अब पीड़ित लड़कियों के पिता का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो रोते हुए खुद को गोली मार देने की बात कह रहा है। ये वीडियो वारदात के बाद कब का है ये तो पता नहीं चला है, लेकिन वीडियो में बुजुर्ग पिता थाने के बाहर बैठकर बेटियों को वापस लाने की गुहार लगा रहा है।

सामने आया बेबस पिता का वीडियो…

– अपहृत लड़कियों के बुजुर्ग पिता का जो वीडियो सामने आया है, उसमें वो रोते हुए अपनी बेटियों की सुरक्षित वापसी की मांग कर रहा है और ऐसा नहीं करने पर खुद को गोली मार देने की बात कह रहा है।

– खास बात ये है कि ये वीडियो पुलिस स्टेशन के बाहर का है। दरअसल पुलिस ने शुरुआत में इस मामले में रिपोर्ट लिखने से भी इनकार कर दिया था। लेकिन जब अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोग विरोध प्रदर्शन करने लगे तब जाकर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

– बता दें कि दबाव बढ़ने के बाद पुलिस ने इस मामले में पाकिस्तानी कानून के मुताबिक अपहरण, जबरन शादी के लिए महिला का अपहरण, डकैती, मारपीट और अनधिकृत रूप से घर में घुसने को लेकर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

– मामले के सामने आने के बाद पाकिस्तान सरकार की दुनियाभर में किरकिरी हो रही थी, साथ ही वहां अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अत्याचार पर भी सवाल हो रहे थे। जिसके बाद अब प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

ये है पूरा मामला

– 20 मार्च को होली वाले दिन कुछ लोगों ने अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय की इन दोनों नाबालिग बहनों का अपहरण कर लिया था। इसके बाद ना सिर्फ रीना (15) और रवीना (13) नाम की इन लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कर दिया गया, बल्कि अधेड़ उम्र के लोगों से उनकी शादी कर दी गई। यह घटना सिंध प्रांत के घोटकी जिले की है।

– इस घटना के बाद अल्पसंख्यकों ने विरोध में प्रदर्शन किए। दोनों लड़कियों के पिता भी प्रदर्शन में शामिल हुए। बढ़ते विरोध के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। रिपोर्ट के मुताबिक अभियुक्तों ने पीड़ितों के घर से चार तोला सोना और 75 हजार रुपए भी चुरा लिए थे।

– हालांकि इस घटना के बाद आरोपियों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें बच्चियां अपनी मर्जी से इस्लाम अपनाने का दावा कर रही थीं। लेकिन बच्चियों को बहलाफुसला कर इस तरह का वीडियो बनवाना पाकिस्तान में बेहद आम है। जिसके बाद लोगों का गुस्सा और भी बढ़ गया।

Related posts

Leave a Comment