समस्तीपुर के इंजीनियर ने मॉस्को में लहराया भारत का परचम

समस्तीपुर:- समस्तीपुर जिले के ताजपुर प्रखंड अंतर्गत मानपुरा पंचायत के गद्दोपुर गांव निवासी आमिर रजा ने विदेश में बिहार व भारत का नाम रोशन किया है। रूस के मॉस्को में भारत सरकार के विदेश मंत्रालय की ओर से आयोजित ‘भारत को जानिए प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करके जिले के साथ-साथ बिहार का परचम विदेश में लहराया। उन्हें बीते 9 जनवरी 2019 को मॉस्को स्थित भारतीय दूतावास में प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर पुरस्कार दिया गया।

कार्यक्रम में भारत के राजदूत डीबी वेंकटेश वर्मा ने आमिर रजा को स्वर्ण पदक प्रदान किया। आमिर रजा गद्दोपुर गांव के समाजसेवी शमीम अहमद व गृहिणी शकीला बानो के पुत्र हैं। ये अपने पांच भाइयों में तीसरे नम्बर पर हैं। इन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा गांव में ही प्राप्त की। इसके बाद ताजपुर हाई स्कूल से माध्यमिक तथा ताजपुर कॉलेज से 12 वीं (विज्ञान) की पढ़ाई पूरी कर कर्नाटक से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की।

इसके बाद कम्पनी ज्वाइन करने रूस चले गए। वे पिछले दस साल से मॉस्को में टेक्निमाउंट कम्पनी में मैकेनिकल इंजीनियर के रूप में काम करते हैं। इनके बड़े भाई रूस में ही सिविल इंजीनियर हैं। जबकि दो अन्य भाई वहीं से एमबीबीएस कर डॉक्टरी करते हैं। इसके अलावे एक और भाई सऊदी अरब में नौकरी करते हैं।

आमिर रजा को विदेश में गोल्ड मेडल का पुरस्कार मिलने पर प्रखंडवासियों ने बधाई दी है। ताजपुर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अनिल कुमार मंडल ने हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि आमिर रजा इस कॉलेज के छात्र रहे हैं। विदेश में उन्हें स्वर्ण पदक मिलने से आज ताजपुर कॉलेज परिवार भी अपने को गौरवान्वित महसूस कर रहा है। कहा कि कॉलेज परिवार उनके उत्तरोत्तर विकास एवं सुखद भविष्य की कामना करता है।

Related posts

Leave a Comment