नहीं रहे अधिवक्ता व कांग्रेसी नेता राजनंदन बाबू

समस्तीपुर:- गोही पंचायत के बरियारपुर निवासी 85 वर्षीय वरिष्ठ अधिवक्ता व कांग्रेसी नेता राजनंदन प्रसाद सिंह का निधन हो गया। उन्होंने गुरुवार की रात अंतिम सांस ली। दिवंगत राजनंदन बाबू के पिता स्वर्गीय महावीर प्रसाद सिंह भी स्वतंत्रता सेनानी थे। उनके निधन की सूचना मिलने पर शुक्रवार को उनके आवास पर राजनीतिक दलों के अलावा समाजसेवियों और सहकारिता से जुडे़ लोगों का तांता लग गया।

जिले के कांग्रेसी नेता और अधिवक्ता भी बड़ी संख्या में उनके बरियारपुर स्थित आवास पर पहुंचे। मौके पर जिला अध्यक्ष अगू तमीम के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने उनके शव को तिरंगा में लपेट कर श्रद्घांजलि दी। मिली जानकारी के अनुसार, दिवंगत राजनदंन प्रसाद सिंह पूर्व में कांग्रेस में बिहार के डेलीगेट, बीस सूत्री अध्यक्ष, व्यापार मंडल अध्यक्ष, कृषि उत्पादन बाजार समिति के उपाध्यक्ष समेत सहकारिता में कई पदों पर रह चुके थे।

इनके एकमात्र पुत्र व पत्रकार दिलीप कुमार उर्फ कुंदन उन्हें मुखाग्नि दी। उनका दाह संस्कार सिमरिया में किया गया। वर्ष 1968 से ही ये कांग्रेस पार्टी से जुड़े रहे हैं। वे पिछले कई महीनों से बीमार थे।

उनके निधन पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अबू तमीम, राम कलेवर सिंह, लाल नारायण ठाकुर, रामप्रीत राय, विशेश्वर राय, मुखिया चंद्रभूषण ठाकुर, रामदयाल राय, राजेश सहनी, वशिष्ठ राउत, अरुण कुमार भगत, राम उद्गार महतो, हरिश्चंद्र राय, गणेश राय, जीवछ राय, सुनील सिंह, विजय सिंह, तनवीर, सुबोध सिंह, टुनटुन राय, अजय सिंह, मो़ मसकूर, सुदर्शन ठाकुर, शिव शंकर राय, गया पोद्दार, थानाध्यक्ष पवन कुमार, चंद्रवीर सोनू आदि ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

Related posts

Leave a Comment