नवजात को दफनाने की चल रही थी तैयारी, अचानक बच्चे के रोने की आवाज सुन अचंभित हुए ग्रामीण

समस्तीपुर/उजियारपुर:- उजियारपुर प्रखंड अंतर्गत चाँदचौर पश्चिमी पंचायत के निवासी सुजीत कुमार साह की पत्नी रूमा देवी ने नवजात शिशु को निजी अस्पताल में जन्म दिया। जो कि बच्चा मृत था लेकिन दो घंटे बाद पुनः जीवित हो गया। इसकी खबर सुनकर रालोसपा प्रखंड अध्यक्ष कमलेश कमल व रालोसपा नेत्री सह बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष सुनीता शर्मा भी वहां पहुँची।

मिली जानकारी के अनुसार सुनीता शर्मा ने बताया कि 19 नवंबर की देर रात उसका प्रसव हुआ। महिला ने कथित तौर पर मृत बच्चे को जन्म दिया। बच्चे के दादा रामाशीष साह ने बच्चे को सीधा श्मशान घाट ले गए। बच्चे को वहीं छोड़ कुदाल लाने घर आया तो आस पड़ोस के महिलाओं ने कहा कि अंतिम संस्कार हिंदू रीति रिवाज के अनुसार होना चाहिए। तत्पश्चात दादा ने बच्चे को पुनः शमशान घाट से घर वापस लाये तो भगवान का करिश्मा ऐसा कि कोई सोच भी नहीं सकता था घर पर महिलाओं को रोते सुन बच्चा भी बिलख बिलख कर रोने लगा। जहां घर पर मातमी सन्नाटा था वहां बच्चे का किलकारी सुन गम का माहौल खुशियों में बदल गया।

इसी को कहते हैं जाको राखे साइयां मार सके ना कोई। मौके पर आरती देवी, राम कुमार साह, अर्जुन राउत, अकलू साह, अशोक साह विजय साह उर्फ बैजू साह, चमचम देवी, अनीता देवी, विष्णु देव साह, सुशीला देवी, जालो देवी, संगीता देवी मुन्नी देवी आदि सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।

समस्तीपुर टाउन संवाददाता रमेश शंकर झा के साथ विनय भूषण की रिपोर्ट

Related posts

Leave a Comment