महिला दिवस विशेष, आनंदम् पुराण के अनुसार – (आनंद की कलम से)

1. दर्जनों गोलगप्पे खाने के बाद एक एक्स्ट्रा सूखा पपड़ी न मिलने पर गोलगप्पा वाले भईया का झोंटा पकड़ कर लड़ने को तैयार लड़कियों को भी महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

2. एक दुपट्टे का सलवार पर मैचिंग की खातिर, अपने सुधुआ गाय समान भाई और जर्सी गाय समान पति को कम से कम 48 दुकाऩ बौआने वाली दीदीयों एवं महिलाओं को भी महिला दिवस की हार्दिक शुभकानाएं।

3. पूरे चाचियों की झुंड में मुहल्ले भर की चुगलखोरी कर लेने और उसके बाद यह बोल के उठ जाना की छोड़ो हमें दूसरों से क्या मतलब है, हमें तो केवल अपने से ही मतलब है, उन चाचियों को भी महिला दिवस की शुभकामनाएं।

4. उन सीसीटीवी आंटियों को महिला दिवस की विशेष शुभकामनाएं जो हमेशा अपडेट रहते है कि ललनमा का अफेयर किससे और कब से चल रहा है।

5. स्कूटी में ब्रेक होने के बाद भी पैर को घिसटा घिसटा के स्कूटी रोकने वाली लड़कियों को भी महिला दिवस की विशेष शुभकामनाएं।

6. स्कूटी चलाने और सामने कोई आ जाए तो ब्रेक और Horn के बदले चींख उई मम्मी मारने वाली देवियों को भी महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

7. स्कूटी से हम जैसे मासूम लड़कें जो रोड पर भी नहीं स़ड़क से 2 मीटर हट के चल रहे हो, फिर भी उन्हें साईड मिरर से रगड़ के केहुनी छिल देने और उसके बाद निर्दोष राजपाल यादव के जैसे मुंह बनाने वाली लड़कियों को भी महिला दिवस की शुभकामनाएं।

8. आधा किलो सब्जी लेने और उपर से 2 रुपिया के मुफ्त धनिया पत्ता के लिए सब्जी वाले चचा से बकझक कर के आस पड़ोस के लोगों का ध्यान आकर्षित करने वाली माताओं को भी महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

9. रोज रोज बत्तख जैसा मुंह बना के मिनिमम 50 सेल्फी लेने और उसके बाद एक भी पसंद न आता, 49 तस्वीरों को डिलेट कर के एक चुनने के बाद स्वीट सेल्फी ऐप पर पूरा डेकोरेशन कर के फेसबुक पर डालने वाली देवियों को भी महिला दिवस की विशेष शुभकामनाएं।

10. फेसबुक पर लड़कियों की आईडी बना के बैठें निठल्ले लौंडो को भी वीमेंस डे की विशेष शुभकामनाएं, आप वाकई में बधाई के पात्र है, ईश्वर से दुआ करते है कि आप हमेशा इसी फिमेलावस्था में बने रहें, ऐसे भी देश में लिंगानुपात कम है।

डिस्क्लेमर : उपरोक्त व्यंग्य है, आहत न हो, पर किसी न किसी जीवित या मृत व्यक्ति से पूरा का पूरा संबंध है
- आनंद कुमार की कलम से 

Related posts

Leave a Comment