सात दिन में छह लोगों की हत्या

समस्तीपुर  :  मौसम की गर्माहट के साथ ही एक सप्ताह के दौरान आपराधिक घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है. होली के बाद गत सात दिनों के दौरान जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में छह लोगों की हत्या कर दी गयी, लेकिन अबतक हत्याकांडों का खुलासा नहीं हो पाया है. इससे लोगों में दहशत व्याप्त है, जबकि अपराधियों के हौसले बुलंद हैं. पुलिस अधीक्षक नवल किशोर सिंह का दावा है कि बहुत जल्द सभी हत्याकांडों का खुलासा कर अपराधियों की गिरफ्तारी की जायेगी.
नहीं मिला सुराग

सरपंच हत्याकांड में हवा
में तीर चला रही पुलिस
छात्र हत्याकांड का भी आरोपित गिरफ्तार नहीं

केस एक : होली बाद 15 मार्च को नगर पुलिस ने शहर के मालगोदाम चौर से एक अज्ञात युवक की लाश बरामद की. युवक की हत्या गलाघोंट कर की गयी थी, लेकिन घटना के छह दिनों बाद भी पुलिस न लाश की पहचान कर पायी न हीं हत्या के कारणों का खुलासा. इससे चर्चाओं का बाजार गर्म है.

केस दो : 14 मार्च को जिले के पटोरी थाने के धर्मपुर बांदे गांव में कुमकुम देवी नामक महिला की हत्या कर दी गयी.
केस तीन : 16 मार्च कर रात अपराधियों ने जिले के बंगरा थाने के खरुआ गांव में जवाहर साह व उनकी पत्नी को गोली मार दी गयी. मौके पर ही जवाहर साह की मौत हो गयी, जबकि उनकी पत्नी आज भी पीएमसीएच में जीवन और मौत से जूझ रही है. इसी रात अपराधियों ने जिले के बिथाने थाने के छेछनी गांव में इंटर के छात्र विमलेश कुमार यादव की गोली मार कर हत्या कर दी गयी. इस मामले में नामजद एफआइआर दर्ज करायी गयी है, लेकिन आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है.

केस चार: 19 मार्च की सुबह पुलिस ने कल्याणपुर थाने के वासुदेवपुर पंचायत के सरपंच हरिशंकर भगत की पेड़ से लटकती हुई लाश बरामद की. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज की है. लाश मिलने की सूचना के बाद ग्रामीणों ने हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए समस्तीपुर-दरभंगा मुख्य पथ को जाम कर दिया था. जाम कर रहे लोगों को पुलिस पदाधिकारियों ने बहुत जल्द हत्याकांड का खुलासा करते हुए अपराधियों को गिरफ्तार कर लेने का आश्वासन दिया था, लेकिन अबतक पुलिस इस मामले में हवा में हाथ पांव भांज रही है. इस मामले में खुरासान मॉड्यूल के लोगों के शामिल होने की भी चर्चा हो रही है.

केस पांच : 19 मार्च की रात कतिपय लोगों ने विभूतिपुर थाने के मंदाटोल में भरथ यादव की चाकू मार कर हत्या कर दी. इस मामले में पीड़ित परिवार के बयान पर गांव के ही पांच लोगों को आरोपित किया गया. हालांकि, पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है, लेकिन अबभी चार आरोपित पुलिस की पकड़ से बाहर है. पुलिस का कहना है कि घटना जमीन विवाद के कारण हुई है.

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *