गर्मियों में भीड़ कम करने के लिए मध्य रेलवे का फैसला, 5 गुना बढ़ा दिया गया टिकट का दाम

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यात्रियों को बड़ा झटका दिया है. सेंट्रल रेलवे (Central Railways) ने प्लेटफॉर्म पर बढ़ने वाली भीड़ को रोकने के लिए मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन (MMR) के कुछ स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट के किराये में 5 गुना का इजाफा कर दिया है. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए रेलवे ने यह फैसला लिया है. प्लेटफॉर्म टिकट की नई दरें 24 फरवरी से प्रभावी हैं और इस साल 15 जून तक लागू रहेंगी. एक अधिकारी ने कहा कि कोविड महामारी को देखते हुए इस बार गर्मियों में रेलवे स्टेशनों पर ओवर क्राउंडिग को रोकने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट के दाम में ये बढ़ोतरी की गई है.

किन स्टेशनों पर बढ़ी है टिकट की कीमत

सेंट्रल रेलवे ने मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, दादर और लोकमान्य तिलक टर्निमस और ठाणे, कल्याण, पनवेल और भिवंडी रोड स्टेशनों पर प्‍लेटफॉर्म टिकटों की कीमत 10 रुपए से बढ़ाकर 50 रुपए कर दी है. बता दें कि इससे पहले भी रेलवे ने कई स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट के किराए में इजाफा करने का फैसला लिया था. 2020 में पुणे डिवीजन में प्लेटफॉर्म टिकट (Platform Ticket) की कीमत पांच गुना बढ़ाकर 50 रुपए कर दी गई थी.

दो घंटे के लिए होता है वैलिड

आपको बता दें प्लेटफॉर्म टिकट दो घंटे के लिए वैध होता है. यदि आप रेलवे प्लेटफॉर्म पर अपने किसी संबंधी को छोड़ने या लेने जा रहे हैं तो प्लेटफॉर्म टिकट लेने के समयानुसार 2 घंटे तक प्लेटफार्म पर रुकने की अनुमति मिलती है. इससे अधिक रुकने पर जुर्माना देना पड़ सकता है.

सेंट्रल रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने कहा, यह कदम भीड़ पर नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए है. उन्होंने आगे कहा कि कोरोना महामारी के फैलाव को रोकने के मकसद से इन स्टेशनों पर लोगों के बड़े जमावड़े पर नियंत्रण के लिए यह फैसला लिया गया है. मुंबई में अब तक COVID-19 के 3.25 लाख मामले मिले हैं और शहर में अब तक इस महामारी से 11400 मौतें हो चुकी हैं.

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal