अब किरायेदार के नाम से लगाना होगा मीटर, मकान मालिक नहीं बेच सकते अपने हिस्से की बिजली

किरायदारों का अलग मीटर या सब मीटर लगा कर उनसे बिजली का पैसा वसूलने वाले मकान मालिकों पर अब विभाग एक्शन लेगा. कोई भी मकान मालिक को अपने हिस्से की बिजली किरायेदारों को बेचने का अधिकार नहीं है. ऐसा पाये जाने पर बिजली कंपनी उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है.

जानकारी के मुताबिक कोई भी उपभोक्ता बिजली का इस्तेमाल सिर्फ अपने लिए कर सकता है. ऐसे में मकान मालिक अगर बिना लाइसेंस के किरायदारों को सब मीटर लगाकर बिजली बेचते हैं तो बिहार विद्युत विनियामक आयोग ऐसे मकान मालिकों पर कार्रवाई करेगा.

किरायदारों के नाम पर होना चाहिए मीटर

बिजली कंपनी के मुताबिक किरायेदारों को रेंट एग्रीमेंट के आधार पर बिजली का नया कनेक्शन दिया जा रहा है. कंपनी का कहना है कि कार्रवाई न हो इसके लिए किरायदारों के नाम से नया कनेक्शन ले लेना चाहिए. हालांकि एक्ट के अनुसार बिजली बिल का भुगतान किये बगैर किरायेदार मकान खाली करके चला जाता है तो उसके बकाये की जिम्मेदारी मकान मालिक की ही मानी जाती है.

ज्यादा पैसे वसूल रहे हैं मकान मालिक

अधिकांश किरायेदारों को उनके मकान मालिक सब मीटर लगाकर बिजली कनेक्शन मुहैया करवाते हैं. उस मीटर को फास्ट होने सहित उससे प्रति यूनिट 10 रुपए तक बिजली शुल्क की वसूली की बहुत सारी शिकायतें आती हैं.ऐसे में अब यह फैसला किया गया है कि मकान मालिक रेंटर को सब मीटर नहीं बल्कि उनके नाम पर मीटर मुहैया करवाएं ताकि विवाद ना हो.

इनपुट : प्रभात खबर

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal