बिहार के इस गांव में लगी भीषण आग, 300 घर जलकर राख, सब कुछ हो गया बर्बाद

भागलपुर के नारायणपुर में आग की एक चिंगारी ने 300 परिवारों को सड़क पर ला खड़ा किया। मंगलवार की सुबह तक उनके पास रहने को झोपड़ी थी। लेकिन दोपहर होते-होते उनका आशियाना खत्म हो गया। कसमाबाद दियारा के वार्ड संख्या 10 के एक घर में कुछ बच्चों ने चूल्हा जलाया था। इस दौरान एक चिंगारी से फूस की झोपड़ी में आग लगी गई। देखते ही देखते 300 घर जलकर राख हो गए।

झोपड़ियों से पहले बच्चों को निकाला गया बाहर

तेज हवा होने की वजह से आग ने वार्ड नंबर 10 को पूरी तरह से चपेट में ले लिया। इसके बाद आग की चपेट में वार्ड नंबर 9 भी आ गया। किसी तरह लोगों ने झोपड़ियों से बाहर निकलकर जान बचाई। अगलगी के बाद घटनास्थल पर अफरातफरी मच गई। लोग आग बुझाने के लिए एक-दूसरे की मदद करते दिखे। जिसके हाथों में जो बर्तन दिखा, उसी से ही आग बुझाने लगे। लेकिन तेज हवा की वजह से आग की लपटों पर कंट्रोल करना मुश्किल हो गया। लोगों ने सबसे पहले बच्चों को झोपड़ियों से बाहर निकाला।

देर से पहुंची फायरब्रिगेड की टीम

अगलगी में कपड़ा, बर्तन, गहने समेत कई मवेशी भी जलकर राख हो गए। मुखिया अरविंद मंडल ने बताया कि घर मे बच्चों के द्वारा चूल्हा जलाने के दौरान फूस के घर में आग लग गई।अगलगी की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की तीन गाड़ी घटनास्थल पर पहुंची। रास्ता खऱाब होने की वजह से अग्निशमन को यहां तक पहुंचने में काफी समय लग गया। किसी तरह अपनी जान बचाकर सड़क किनारे शरण लिए हुए हैं।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal