वैशाली में जहाज पार कराने को अचानक खोल दिया पीपापुल, बीच गंगा में फंस गए कई

राघोपुर को पटना से जोड़ने के लिए रुस्तमपुर में गंगा नदी पर बने पीपा पुल पर सोमवार की सुबह उस वक्त अजीबोगरीब दृश्य उत्पन्न हो गया जब पीपापुल पर बोलेरो के खराब होने को लेकर जाम के बीच ही जहाज को पार कराने के लिए पीपा को खोल दिया गया। पीपा पर फंसे लोगों की सांसें घंटों अटकी रही। वहीं पीपापुल को खाेले जाने को लेकर नदी के दोनों ओर घंटों जाम में लोग फंसे रहे।

बताया जाता है कि सोमवार को लगभग 10.30 बजे पीपापुल पर अचानक जाम लग गया। लगभग 2 घंटे पीपा पुल पर जाम लगा रहा। इसी बीच पीपा पुल को जहाज पार कराने के लिए दोपहर में खोल दिया गया। जिसके कारण लगभग पांच घंटे तक पीपा पुल पर आवागमन बाधित हो गया। पीपा पुल पर बोलेरो के खराब होने के कारण जाम लग गया। जाम इतना था कि पीपा पुल को लोग पैदल भी पार नहीं कर पा रहे थे। वहीं पीपा पुल को लगभग 12.30 बजे जहाज पार कराने के लिए खोला गया। शाम 3.00 बजे तक पीपा पुल को नहीं जोड़ा गया था। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मालूम हो कि राघोपुर दियारा से पटना जाने वाले लगभग सैकड़ों लोगों को काफी परेशानी हुई। पीपा पुल खुलने के कारण लोगों को मजबूरन नाव से नदी पार करना पड़ा।

बिना सूचना के खोला जाता है पीपा पुल

गौरतलब हो कि पीपा पुल जर्जर होने के कारण आए दिन जाम लगा रहता है। वहीं बिना किसी पूर्व सूचना के जहाज पार कराने के लिए पीपा पुल संवेदक के स्तर पर खोल दिया जाता है। जिसके कारण आम लोगों को काफी परेशानी होती है। राघोपुर प्रखंड के लोगों के लिए पीपा पुल सरकार के स्तर पर बनाया गया है। पीपापुल पर पटना एवं वैशाली प्रशासन के मिलीभगत से धड़ल्ले से ओवरलोड ट्रैक्टर का परिचालन किया जा रहा है। प्रतिदिन पटना से लगभग 400 से 500 लाल बालू लदे ओवरलोड ट्रैक्टर राघोपुर पीपापुल पार कर हाजीपुर, महनार एवं समस्तीपुर सहित अन्य जगहों के लिए जाते हैं।

छोटी-बड़ी गाड़ियों को आने-जाने में परेशानी

स्थानीय लोगों का आरोप है कि वैशाली एवं पटना पुलिस ट्रैक्टर चालकों से अवैध रूप से उगाही कर ओवरलोड ट्रैक्टर पीपा पुल पर पाक करवा रही है। राघोपुर के रुस्तमपुर में गंगा नदी पर बने पीपापुल की स्थिति काफी जर्जर हो गई है। पीपा पुल में लगी लगभग लोहे की चादर क्षतिग्रस्त हो चुके है। नट बोल्ट इधर-उधर बिखरा पड़ा है। कई जगह सूखा में पीपा का ड्रम पर जाने के कारण ऊंचा हो गया है। जिसके कारण छोटी-बड़ी गाड़ियों को आने-जाने में काफी परेशानी होती है। वहीं रुस्तमपुर की तरफ से संवेदक के स्तर पर एप्रोच रोड नहीं बनाए जाने के कारण कई जगह डेढ़ से दो फीट तक के गड्ढे हो गए हैं।। गड्ढों में आए दिन छोटी-बड़ी गाड़ियां फंस जाती हैं, जिसके कारण पीपा पुल पर जाम लग जाता है।

इनपुट : दैनिक जागरण

 

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal