महापर्व छठ में दूर देश बैठे लोगों के लिए वरदान साबित हुआ दरभंगा एयरपोर्ट, उतरे 1111 यात्री

मिथिलांचल व उत्तर बिहार के लोगों के लिए दरभंगा एयरपोर्ट वरदान साबित हो रहा है। खास तौर पर बड़े अवसरों पर। इस बार के छठ पूजा में दूर देश में नौकरी कर रहे लोगों के लिए दरभंगा से उड़ान भर रहे स्पाइस जेट के विमान न सिर्फ लोगों के समय की बचत कर रहे हैं। बल्कि, दो दिलों को आपस में जोड़ रहे हैं। इस बार लोक आस्था के महापर्व में लोगों की एक बड़ी संख्या एक दिन में हवाई यात्रा कर अपने घर पहुंची।

लोक आस्था के महापर्व छठ में आए लोगों ने भगवान भास्कर की पूजा की और अपने स्वजनों के बीच रहे। दरभंगा के संजय कुमार बताते हैं कि सालों से हमारे रिश्तेदार छठ में घर नहीं आ पाते थे। लेकिन, हवाई सेवा शुरू हो जाने के बाद से लोगों को सुविधाएं मिली हैं। लोग अपनों के करीब हुए हैं। इस तरह की सेवा का शुरू होना दरभंगा के लिए गर्व का विषय है।

19 नवंबर को दरभंगा एयरपोर्ट पर उतरे 1111 यात्री :

दरभंगा एयरपोर्ट ने अपने ट्विटर हैंडल पर दी गई जानकारी में कहा है कि अकेले 19 नवंबर 2020 को दरभंगा एयरपोर्ट पर 1111 लोग विभिन्न शहरों से उतरे। आरंभ से लेकर 19 नवंबर तक की यात्रा में यह पहला अवसर था जब इतनी बड़ी संख्या में लोग यहां उतरे। बता दें कि 19 नवंबर को लोक आस्था के महापर्व के चार दिवसीय अनुष्ठान का दूसरा दिन खरना का था। सो इस दिन आनेवालों की तादाद बढ़ी।

एयरपोर्ट के ट्विटर हैंडल पर लोग कर रहे संवाद :

एयरपोर्ट के ट्विटर हैंडल पर जहां एक ओर आधिकारिक जानकारी दी जा रही है। वहीं दूसरी ओर स्थानीय लोग इस अकाउंट पर अपने विचार दे रहे हैं। लोगों ने जहां एक ओर एयरपोर्ट पर दी जा रही सुविधाओं के लिए प्रसन्नता जाहिर की है। वहीं दूसरी ओर अन्य शहरों से भी इसे जोड़ने की मांग कर रहे हैं।

8 नवंबर 2020 से शुरू हुई है सेवा :

याद रहे कि केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत दरभंगा एयरपोर्ट से 8 नवंबर से हवाई जहाज उड़ान भर रहे हैं। फिलहाल यहां से दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू के लिए फ्लाइट चल रही है। इन तीन महानगरों के लिए फ्लाइट उड़ने के बाद अब लोग चाहते हैं कि देश के अन्य शहरों के लिए हवाई सेवा शुरू की जाए। वहीं दूसरी ओर भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की ओर से एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के लिए अतिरिक्त भूमि का अधिग्रहण करने की तैयारी की जा रही है। कई दौर की प्रशासनिक बैठकें हो चुकी हैं।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal