बिहार : नौकरी के लिए कर दी पिता की हत्या, अखबार में पढ़ा था पिता की मौत पर बेटे को मिलती है नौकरी

बिहार में औरंगाबाद के नवीनगर नगर पंचायत के वार्ड नंबर- 13 के अन्नदुआ बिगहा से पिता कृष्णा राम ( 50 वर्षीय) की हत्या के आरोपित पुत्र भोलाराम को नवीनगर पुलिस के सहयोग से रामगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को घर से गिरफ्तार कर लिया। भोला को गिरफ्तार करने पहुंची रामगढ़ पुलिस के पुलिस अवर निरीक्षक रघुनाथ सिंह, कमलेश सिंह एवं अनिल हेरंब ने बताया कि मोबाइल लोकेशन के आधार पर हत्यारे के गांव तक पहुंचे। भोलाराम द्वारा कई बार मनगढ़ंत कहानी बनाकर पुलिस को दिग्भ्रमित करने का प्रयास किया गया, लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।

उसने पुलिस को बताया कि सात महीनों से पिता की हत्या करने की योजना बना रहा था। लेकिन, योजना सफल नहीं हो रही थी। तीन दिनों पूर्व मैं बरकाकाना स्थित सरकारी क्वार्टर के बाहर पेड़ पर चढ़कर दो दिनों से पिता की निगरानी कर रहा था। वे कब घर में अकेले सोते हैं। बीते बुधवार को मेरे पिता शराब के नशे में धुत घर में सोए हुए थे। गांजा और शराब पी कर मौका देख कर घर में घुस गया। नशे में धुत सोए हुए पिता के सिर पर पहले हथौड़ा से प्रहार किया, उसके बाद सब्जी काटने वाले चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी।

हत्या करने के बाद तब तक उनके बगल में सोता रहा जब तक की उनका प्राण नहीं निकला। पिता की हत्या करने के बाद साइकिल से रामगढ़ स्टेशन पर पहुंचा एवं वहां से गाड़ी पकड़ कर मैं अपने ससुराल चला गया।

पुलिस द्वारा पूछताछ के क्रम में भोला राम ने बताया कि मैं अपने पिता की सरकारी नौकरी लेना चाहता था। इसलिए मैं उनकी हत्या कर दी। मैंने अखबारों में पढ़ा था कि पिता की हत्या के बाद उनके स्थान पर नौकरी पुत्र को ही मिलती है। इसीलिए मैंने अपने पिता की हत्या की है एवं मैं पहले से ही जानता था कि मैं पकड़ा जाऊंगा। हत्यारे पुत्र को रामगढ़ पुलिस अपने साथ रामगढ़ ले गई।

krishna hospital samastipur bihar ADVERTISEMENT

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal