बिहार की हर घर नल का जल निश्चय योजना को ‘जी-20 सम्मेलन’ से मिलेगी अंतर्राष्ट्रीय पहचान

बिहार की हर घर नल का जल निश्चय योजना को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिलेगी। जी-20 देशों के सम्मेलन में इस योजना का प्रस्तुतीकरण किया जाएगा। भारत सरकार की ओर से इसकी प्रस्तुति सम्मेलन में की जाएगी। बिहार की ओर से इस योजना पर विस्तृत रिपोर्ट भारत सरकार को भेज दी गई है। गौरतलब हो कि जी-20 में शामिल सभी देशों का सम्मेलन 21 और 22 नवंबर को सऊदी अरबिया की राजधानी रियाद में हो रहा है।

लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग (पीएचईडी) के सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेस में यह जानकारी दी। गौरतलब हो कि हर घर नल का जल निश्चय योजना को पहले भी केंद्र सरकार की ओर से सराहा गया है। अब यह योजना देश के स्तर पर लागू भी कर दी गई है। इस योजना के तहत पाइपलाइन बिछाकर शहर और गांव के हर घर में नल से जल की आपूर्ति की जानी है।

पीएचईडी द्वारा राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के 56080 वार्डों में नल से जल की आपूर्ति की जानी है। इनमें 60 प्रतिशत से अधिक वार्डों में काम पूरा कर लिया गया है। सचिव ने कहा कि अक्टूबर 2020 तक सभी वार्डों में यह काम पूरा कर लिया जाएगा। सचिव ने कहा कि नल-जल योजना की रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए सभी मोटरों में डिवाइस लगाने की प्रक्रिया चल रही है।

ताकि किस वार्ड में कितनी देर पेयजल की आपूर्ति हुई, इसकी ऑनलाइन रिपोर्ट प्रतिदिन मिलती रहे। ग्रामीण क्षेत्रों के 58 हजार से अधिक वार्डों में इस योजना का क्रियान्वयन पंचायती राज विभाग द्वारा किया जा रहा है। इसी प्रकार शहरी क्षेत्रों में इस कार्य को नगर एवं आवास विभाग करा रहा है।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal