मुजफ्फरपुरः तीन मासूम बच्चों को खंभे से बांधकर पीटा फिर नंगा कर मोमबत्ती से जलाया, देखती रही सैंकड़ों की भीड़

भीड़तंत्र का खौफनाक चेहरा एक बार फिर उजागर हुआ है. भीड़ में शामिल लोगों ने बारह- तेरह साल के तीन बच्चों को न सिर्फ खंभे में बांधकर पीटा गया बल्कि जलती मोमबत्ती से उनके शरीर के कई हिस्सों को भी जला दिया गया. घटना साहेबगंज थाना (Sahebganj police station) के हुसेपुर गांव की है. इन बच्चों पर रुपए चोरी का आरोप है. बताया जा रहा है कि करीब 1 घंटे तक बर्बरता का यह खौफनाक खेल खेला गया. बच्चे लगातार रोते गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन मौके पर मौजूद करीब एक सौ लोगों की भीड़ में एक भी आदमी उन्हें बचाने सामने नहीं आया. घटना का वीडियो सामने आने पर पुलिस की नींद उड़ गई.

घटना बीते 5 जुलाई की बताई जा रही है

बताया जा रहा है कि करीब एक घंटे तक बर्बरता बच्चों के साथ की गई। इस दौरान बच्चे लगातार रोते-गिड़गिड़ाते रहे। लेकिन मौके पर मौजूद करीब एक सौ लोगों की भीड़ में से कोई भी उन्हें बचाने के लिए सामने नहीं आया। वहीं घटना का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। घटना बीते 5 जुलाई की बताई जा रही है। वहीं एक बच्चे के पिता ने हिम्मत दिखाते हुए साहिबगंज थाना पुलिस को शिकायत का आवेदन दिया है।

तमाशबीन बने रहे लोग

बच्चों को देखकर मौके पर भारी भीड़ जुट गई और इसी में से किसी ने वीडियो बना लिया। वायरल हो रहे वीडियो में स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि कैसे बच्चे गिड़गिड़ा रहे हैं और जलती मोमबत्ती से उनकी पीठ को जलाया जा रहा है।

आरोपितों ने बच्चों की पैंट भी उतार दी और उनके नितंबों को मोमबत्ती से कई बार जलाया। इस दौरान बच्चे चीखते और चिल्लाते रहे। लेकिन किसी को भी उनपर दया नहीं आई। बर्बरता का यह खेल करीब एक घंटे तक चलता रहा और लोग तमाशबीन बने रहे।

दैनिक भास्कर के अनुसार आवेदनकर्ता ने बताया है कि पुलिस के आने पर आरोपी भाग गए और मेरे पुत्र को घर जाने दिया। पुलिस के जाने के बाद 6 नामजद लोग मेरे दरवाजे पर हथियार के साथ आए और धमकी देते हुए बाेले कि अगर केस किए तो तुम्हारे पुत्र को जान से मार देंगे। डर के मारे मैं और मेरा परिवार घर से नहीं निकल रहा है।

krishna hospital samastipur bihar

इस बावत थानाध्यक्ष राजू कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मेरे समक्ष नहीं आई है। आवेदन मिलने की भी जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। एसडीपीओराजेश कुमार शर्मा ने बताया कि भीड़ द्वारा अमानवीय घटना काे अंजाम दिया गया है। मामले की जांच कर दाेषियाें पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal