मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, कहा- हर हाल में बढ़ाए कोरोना टेस्टिंग की संख्या, राशनकार्ड समय सीमा के अंदर बांटे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के सैंपल की टेस्टिंग हर हाल में बढ़ाई जाए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को हिदायत दी कि हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर और स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए। डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, कोविड हेल्थ सेंटर और कोविड केयर सेंटर में बेड के साथ-साथ आइसोलेशन बेड की संख्या भी तत्काल बढ़ाई जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आइसोलेशन वार्ड में संभावित संक्रमितों की संख्या के अनुपात में वेंटिलेटर, ऑक्सीजन और अन्य जरूरी उपकरणों की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। कोविड-19 संक्रमण से बिहार का रिकवरी रेट 71.54 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय औसत मात्र 62.42 प्रतिशत है।

इस प्रकार राष्ट्रीय औसत से हमारा रिकवरी रेट 9 प्रतिशत से अधिक है। लिहाजा लोगों को कोरोना संक्रमण से डरने की जरूरत नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ हर व्यक्ति मास्क का जरूर प्रयोग करें। किसी भी परिस्थिति में बिना मास्क के बाहर नहीं निकलें।

लोगों को बाढ़ से सुरक्षित निकालने की रखें तैयारी

नेपाल और राज्य के कई जिलों में भारी बारिश के चलते बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री ने तटबंधों के नजदीक रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए पूरी तैयारी रखने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन विभाग त्वरित कार्रवाई के लिए हर पल तैयार रहे। जल संसाधन विभाग तटबंधों की सुरक्षा को लेकर अलर्ट मोड पर रहें।

krishna hospital samastipur bihar

राशन कार्ड को समय सीमा के अंदर बांटें

मुख्यमंत्री ने राशन कार्ड वितरण समय सीमा के अंदर पूरा करने का आदेश दिया है, ताकि योग्य परिवारों को राशन कार्ड के माध्यम से जन वितरण प्रणाली की सभी योजनाओं का पूरा लाभ मिल सके।

इनपुट : दैनिक भास्कर

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal