तेजस्वी यादव और चिराग पासवान के सुर हुए एक, बिहार में NDA की मुसीबत बढ़ने के संकेत

आरजेडी नेता तेजस्वी प्रसाद यादव और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के सुर एक हो गये हैं. दोनों ने चुनावी तैयारियों में लगे नीतीश कुमार को घेरा है. अब सवाल ये उठ रहा है कि दोनों के सुर क्या बिहार में एनडीए का राग बिगाड़ने वाला है.

तेजस्वी ने चिराग पासवान की खबर को ट्वीट किया

दरअसल कल दिल्ली में लोक जनशक्ति पार्टी की बैठक हुई थी. बैठक में चिराग पासवान ने कहा था कि बिहार में अभी चुनाव कराने का सही वक्त नहीं है. बिहार में कोरोना का संकट लगातार गहराता जा रहा है. लिहाजा सरकार और सारे प्रशासनिक तंत्र को सबसे पहले कोरोन से निपटने और लोगों को राहत पहुंचाने की कोशिश करनी चाहिये.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने आज चिराग पासवान के इसी खबर को ट्वीट किया है. तेजस्वी ने कहा है कि बिहार ज्वालामुखी के दहाने पर बैठा है. आने वाले दिनों में कोरोना के कारण बिहार में असंख्य लोगों के मरने की आशंका है. इसके लिए नीतीश सरकार की लापरवाही जिम्मेवार है. नीतीश सरकार ने लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया है.

तेजस्वी-चिराग दोनों ने की चुनाव स्थगित करने की मांग

बिहार में चुनाव स्थगित करने पर तेजस्वी प्रसाद यादव और चिराग पासवान के सुर एक हो गये हैं. ये सुर उस राग और ताल से अलग है जो बीजेपी और जेडीयू मिलकर गा रहे हैं. बिहार में कोरोना के भीषण खतरे के बीच बीजेपी और जेडीयू दोनों चुनावी तैयारियों में व्यस्त हैं. बीजेपी ताबड़तोड़ वर्चुअल रैली कर रही है. उधर नीतीश कुमार की पार्टी JDU भी इसी रास्ते पर है.

जबकि तेजस्वी प्रसाद यादव और उनकी पार्टी लगातार ये कह रही है कि बिहार में फिलहाल चुनाव कराने का माकूल समय नहीं है. बिहार में कोरोना का विस्फोट हो चुका है और इसका परिणाम बहुत बुरा होने जा रहा है. अब चिराग पासवान ने भी वहीं बातें कहीं. कम से कम इस मसले पर दोनों के सुर एक हो गये हैं.

krishna hospital samastipur bihar

चुनाव स्थगित करने का दबाव बढा

बिहार में चुनाव स्थगित करने की आरजेडी की मांग का पहले जेडीयू-बीजेपी नोटिस नहीं ले रहे थे. लेकिन अब उनकी सहयोगी पार्टी ने ऐसी ही मांग कर दी है. जाहिर है सरकार पर दबाव बढेगा. दरअसल नीतीश कुमार और बीजेपी दोनों कोरोना के दौर में ही बिहार में चुनाव कराने को बेताब है. उन्हें लग रहा है कि इस माहौल में चुनाव हुआ तो आरजेडी-कांग्रेस जैसी पार्टियां चुनाव अभियान में उनके सामने टिक नहीं पायेंगी. ऐसे में वे आराम से चुनाव निकाल ले जायेंगे.

क्या आगे भी मिलेंगे तेजस्वी और चिराग के सुर

ये जगजाहिर है कि चिराग पासवान नीतीश कुमार से बेहद नाराज हैं. वे इसे जाहिर करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं. चिराग पासवान अपनी पार्टी को नये गठबंधन से लेकर अकेले चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहने को कह चुके हैं. ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या बिहार में तेजस्वी यादव और चिराग पासवान की जोड़ी बन सकती है. दोनों के बीच गठबंधन को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है. लेकिन राजनीति में संभावनायें कभी खत्म नहीं होती.

इनपुट : फर्स्ट बिहार

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal